जागरण संवाददाता, झज्जर :

उपायुक्त सोनल गोयल ने गांव भदानी की महिलाओं, अभिभावकों तथा बेटियों को स्वास्थ्य सुधार की दिशा में आगे बढ़ते हुए पोषाहार पर विशेष ध्यान देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने में पोषाहार की अह्म भूमिका है। वे बुधवार को गांव भदानी के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में राष्ट्रीय पोषाहार माह उत्सव के मद्देनजर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रही थी। यहां विद्यालय में पहुंचकर दीप प्रज्ज्वलन के साथ उपायुक्त ने जागरूकता कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इससे पूर्व छात्राओं द्वारा स्वागत गीत के साथ अभिनंदन किय गया।

डीसी ने कहा कि देश भर में सितंबर मास में चलाए जा रहे पोषाहार माह के अंतर्गत शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग और महिला बाल विकास विभाग की ओर से बच्चों को पौष्टिक आहार खाने और पौष्टिक आहार के महत्व पर जागरूकता कार्यक्रम के तहत लाभांवित किया जा रहा है। साथ ही बच्चों को सफाई एवं शारीरिक स्वच्छता रखने के बारे में भी प्रेरित किया जा रहा है। स्वच्छ तथा पौष्टिक आहार खाने से हमारे शरीर की नींव मजबूत होती है और हम अच्छी तरह से पढ़ पाते हैं और बीमारियों से बचे रहते हैं। पोषाहार अभियान का उद्देश्य कुपोषण को दूर करना है। उपायुक्त ने कार्यक्रम में शपथ भी दिलाई कि वे कुपोषण मुक्त अभियान में आहुति डालते हुए शुद्धता अपनाते हुए स्वस्थ एवं मजबूत जीवन यापन करेंगे। अभियान के दौरान हर घर तक सही पोषण का संदेश पहुंचाने के साथ ही सही पोषण का अर्थ, पोष्टिक आहार सहित अन्य स्वच्छता अपनाने के पहलुओं से जन-जन को जागृत करेंगे ताकि देश के विकास में हर वर्ग की उल्लेखनीय भूमिका स्वस्थ मानवता के नाते अदा की जा सके। गांव के राकवमावि की जेबीटी अध्यापिका दलवंती सहरावत द्वारा लिखित पुस्तक मैं तेरी आवाज मां पुस्तक का भी विमोचन किया।साथ ही स्कूल प्रांगण का अवलोकन करते हुए एजुसेट के माध्सम से दी जा रही शिक्षा प्रणाली की भी सराहना की।

इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी सतबीर ¨सह सिवाच, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र चौहान, उप जिला शिक्षा अधिकारी राजेश खन्ना, प्राचार्य डा.राजेंद्र ¨सह, सक्षम नोडल अधिकारी सुदर्शन पूनिया, बीडीपीओ इकबाल ¨सह राठी, मास्टर महेंद्र, सरपंच भदानी सोमबीर सहित अन्य शिक्षकगण व ग्रामीण मौजूद रहे।

Posted By: Jagran