जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : औद्योगिक सेक्टर 16 व 17 में सड़क किनारे कूड़ा डालकर रात के अंधेरे में लगाई जाने वाली आग की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए हरियाणा राज्य औद्योगिक आधारभूत संरचना विकास निगम (एचएसआइआइडीसी) की ओर से अब विशेष गार्ड भर्ती किए जाएंगे। गार्ड की नियुक्ति के लिए निगम ने टेंडर लगा दिया है। ये गार्ड दिन-रात को क्षेत्र की निगरानी करेंगे और कूड़ा डालने तथा उसमें आग लगाने वालों को पकड़कर उनके खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे। इससे कूड़ा डालकर उसमें आग लगाने की घटनाओं पर अंकुश लग सकेगा। दरअसल, एचएसआइआइडीसी के पास इंडस्ट्रियल वेस्ट के लिए कोई डंपिग यार्ड नहीं है। ऐसे में फैक्टरियों की ओर से इंडस्ट्रियल वेस्ट का निस्तारण बड़ी समस्या बनी हुई है। कुछ उद्योगपति अपने वेस्ट को बाईपास व औद्योगिक क्षेत्रों में सड़क किनारे ग्रीन बेल्ट में डाल देते हैं और उसमें आग लगा देते हैं। इससे काफी प्रदूषण फैलता है। करीब एक साल पहले झज्जर रोड पर लगी आग से 20 हजार मीटर क्यूब प्रति घंटे की हिसाब से प्रदूषण फैला था। यह आग इंडस्ट्रियल वेस्ट में ही लगी थी और 17 घंटे में आग पर काबू पाया जा सका था। इस पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एचएसआइआइडीसी को जिम्मेदार ठहराते हुए 10 लाख रुपये का पर्यावरण क्षतिपूर्ति शुल्क लगाया था, जिसके चलते इस साल निगम ने कूड़ा फेंकने व उसमें आग लगाने वालों की निगरानी के लिए विशेष गार्ड तैनात करने के लिए टेंडर लगाया है। वर्जन..

औद्योगिक क्षेत्र में रात के समय बाईपास व सड़क किनारे लोग कूड़ा डाल देते हैं और फिर उसमें आग लगा देते हैं। इससे प्रदूषण फैलता है। इसकी निगरानी के लिए विशेष गार्ड तैनात किए जाएंगे। इसके लिए टेंडर लगा दिया गया है। ये गार्ड दिन-रात को पूरे क्षेत्र की निगरानी करके कूड़ा डालने व आग लगाने की घटनाओं पर अंकुश लगाएंगे।

-नवीन मलिक, सहायक प्रबंधक, एचएसआइआइडीसी।

------------

कृष्ण

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस