जागरण संवाददाता, झज्जर :

शनिवार को सूर्य देव बादलों के साथ लुकाछिपी खेलते नजर आए। जहां कभी मौसम साफ हुआ और धूप खिली। वहीं, कभी आसमान में बादल छाए रहे। दरअसल, सूर्य देव के साथ चली बादलों की आंख मिचौली के कारण तापमान में भी अधिक बढ़ोतरी नहीं हो पाई। जिससे लोगों को गर्मी से भी राहत मिल रही है। बता दें कि पिछले कई दिनों से हो रही बरसात के कारण मौसम भी परिवर्तनशील चल रहा है। पूर्वानुमान के मुताबिक आगामी दिनों में भी मौसम परिवर्तनशील रहने की संभावना है। बरसात से एक तरफ लोगों को गर्मी से राहत मिली है और मौसम के लिहाज से अच्छा मान रहे हैं। वहीं किसान बरसात को किसी आफत से कम नहीं मान रहे। क्योंकि, बरसात के कारण खेतों में अतिरिक्त जलजमाव हो रहा है। जिससे फसलें भी खराब हो रही है। इसलिए किसान मौसम साफ रहने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। ताकि उनकी फसलें सुरक्षित रहें।

जिले में शुक्रवार सुबह 8 बजे से शनिवार सुबह 8 बजे तक कुल 40 एमएम (मिली मीटर) बरसात हुई। औसतन बरसात 6.67 एमएम दर्ज की गई। जिले में सबसे अधिक बरसात मातनहेल खंड में दर्ज की गई। जिले के खंड मातनहेल में 12 एमएम, बादल खंड में 10 एमएम, बेरी खंड में 9 एमएम व बहादुरगढ़ खंड में 9 एमएम बरसात हुई। इसके अलावा साल्हावास व झज्जर खंड में बरसात ना के बराबर रही। शनिवार को अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं रविवार को अधिकतम तापमान 31 डिग्री व न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई जा रही है। इसका असर आगामी दो-तीन दिनों तक जारी रहेगा। जिसके चलते आसमान में बादल छाए रहने व बरसा होने का अनुमान है। जिससे तापमान में अधिक बढ़ोतरी नहीं होगी। अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस से नीचे बना रहने की संभावना है। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि लोगों को आगामी दिनों में भी गर्मी से राहत मिली रहेगी।

Edited By: Jagran