-लोन पर ट्रैक्टर लेने वाले किसानों को बनाया निशाना, धोखाधड़ी करके ट्रैक्टर खरीदकर किसानों को ठगा

जागरण संवाददाता,झज्जर : किसानों से धोखाधड़ी करके ट्रैक्टर खरीदने का मामला सामने आया है। जिसमें आरोपितों ने किसानों से लोन पर लिए ट्रैक्टरों की अच्छी कीमत व लोन की किस्त देने का झांसा देकर ट्रैक्टर खरीदे। लेकिन जब लोन की किस्त नहीं भरी तो बैंक ने किसानों को किस्त भरने के लिए कहा। जिसके बाद किसानों को पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। पीड़ित किसानों ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष न्याय की गुहार लगाई। किसानों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी।

धोखाधड़ी से ट्रैक्टर हड़पने व लोन की राशि नहीं चुकाने पर गांव तुंबाहेड़ी निवासी अशोक, राकेश कुमार, गांव जैतपुर निवासी सुमन देवी, गांव माहेनबाड़ी निवासी विरेंद्र, गांव जहांगीरपुर निवासी जितेंद्र, देवेंद्र व सिलानी गेट निवासी साहिल ने एसपी को शिकायत दी। शिकायत में कहा कि इस मामले में जल्द उचित कार्रवाई की जाए। शिकायत में बताया कि उन्होंने खेतीबाड़ी व अन्य कार्यों के लिए लोन पर ट्रैक्टर लिए हुए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि आरोपित परमजीत ने एक गिरोह बनाया हुआ है, जो झज्जर व आसपास के एरिया में लोन पर ट्रैक्टर लेने वाले किसानों को अपना निशाना बनाता है। पहले ट्रैक्टरों की ज्यादा कीमत लगाकर खरीद लेता है। जिन ट्रैक्टरों पर लोन लिया हुआ है उनकी बकाया लोन की राशि को घटाकर ही पैसों के भुगतान की बात कहता है। जब किसान अपने ट्रैक्टरों को बेचने के लिए राजी हो जाते हैं तो किसी किसान को 20 हजार तो किसी को 50 हजार रुपये तक देकर ट्रैक्टरों की खरीद करता है। साथ ही लोन की बकाया राशि का भी खुद ही भुगतान करने की बात कही। जिसके बाद किसानों ने आरोपित को अपने ट्रैक्टर बेच दिए।

किसानों को तो धोखाधड़ी का शिकार होने का उस समय पता चला जब बैंक वालों ने किसानों से लोन अदा करने के लिए कहा। बैंक वालों ने उन किसानों से कहा अभी तक लोन की अदायगी नहीं हुई है। इसके बाद किसानों ने भी अपने स्तर पर जांच की। जिसमें पाया कि उक्त आरोपित ने किसानों से ट्रैक्टर खरीदकर किसी अन्य को बेच दिए। लेकिन लोन की राशि का भुगतान नहीं किया। जब किसानों ने आरोपित से बकाया लोन की किस्त जमा करवाने या ट्रैक्टर वापस देने की बात कही तो उसने आरोपित ने कहा कि ट्रैक्टर तो बेच दिए हैं। अब कुछ भी नहीं कर सकते। कानूनी कार्रवाई करने पर भी जान से मारने की धमकी दी। जब इस मामले में स्थानीय पुलिस ने संतोषजनक कार्रवाई नहीं की तो पीड़ितों ने एसपी के समक्ष न्याय की गुहार लगाई। उन्होंने कहा कि केवल वे ही नहीं आसपास के एरिया से करीब दो दर्जन से अधिक किसानों को इसी तरह से फंसाया गया है।

-जांच अधिकारी रूपेश ने कहा कि किसानों की शिकायत पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है। जिसकी जांच की जा रही है। जांच के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran