बहादुरगढ़, जागरण संवाददाता। बहादुरगढ़ के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र में स्थित एक फैक्ट्री में कामगार फांसी के फंदे पर लटका मिला। पुलिस मामले की जांच कर रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में रखवाया गया है। स्वजनों के आने के बाद पोस्टमार्टम हुआ। मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के गांव पिंडारी के रहने वाले 36 वर्षीय सूरज पुत्र श्रीकिशन के तौर पर हुई है। वह टीकरी बार्डर कालोनी में किराये पर रहता था और फैक्टरी नंबर 1833 में काम करता था।

शुक्रवार को रोजाना की तरह ड्यूटी पर आया था। वह ऊपरी हिस्से में गया था। कुछ देर बाद वह फंदे पर लटका मिला। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। आवश्यक छानबीन के बाद शव सिविल अस्पताल भेजा गया। जांच अधिकारी ललित कुमार ने बताया कि मृतक के भाई ने बताया है कि सूरज अविवाहित था। मगर उसके दो अन्य भाइयों और मां को बुलाया गया है। उनके आने के बाद शनिवार को पोस्टमार्टम हुआ।

सूरज ने किन हालातों में फंदा लगाया, इसकी जांच की जा रही है। दूसरी ओर शहर के दयानंद नगर में दिल्ली पुलिस कर्मी की मौत हो गई। मृतक 50 वर्षीय प्रवीन कुमार शुक्रवार की रात को शौचालय में गया था, लेकिन वापस नहीं आया तो स्वजनों ने संभाला। वह शौचालय में गिरा मिला। बाद में अस्पताल लेकर पहुंचे तो चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने घटना को संयोग मानते हुए रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

रात को दोस्त के घर जा रहे युवक को तीन बदमाशों ने चाकू के बल पर लूटा

संवाददाता, बहादुरगढ़। लाइनपार थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक युवक से रात को तीन बदमाशों ने चाकू के बल पर लूटपाट की। उससे दो मोबाइल, पर्स छीनकर फरार हो गए। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर लिया है। घटना 23 जुलाई की रात को करीब डेढ़ बजे हुई। पीड़ित की ओर से पुलिस अधीक्षक को इस बारे में शिकायत की गई थी, वहा से मेल के जरिये लाइनपार थाना में शिकायत पहुंची तो यह कार्रवाई की गई। बामनौली गांव के रहने वाले सुमित छिल्लर के साथ यह घटना हुई।

उसने बताया कि घटना वाली रात करीब एक बजे वह बस से उतरने के बाद नाहरा-नाहरी रोड पर पैदल ही अपने दोस्त के घर जा रहा था। जब रेलवे फ्लाईओवर के नजदीक पहुंचा तो अग्रवाल कालोनी के पास तीन अज्ञात युवकों ने उसे घर लिया। इससे पहले की वह कुछ समझ पाता दो बदमाशों ने उसके पकड़ लिया और तीसरे ने चाकू निकालकर उसकी गर्दन पर रख दिया। इसके बाद धमकी दी कि अगर शोर मचाया ताे चाकू घोंप देंगे। वह सहम गया।

तीनों ने उससे दो मोबाइल फोन, एक हेडफोन और एक पर्स छीन लिया। इसके बाद उसे धक्का देेकर अग्रवाल कालोनी की तरफ भाग गए। पर्स में जरूरी कागजात और पैसे भी थे। इसके बाद किसी तरह उसने स्वजनाें को सूचित किया। इधर, लाइनपार थाना प्रभारी रामकरण ने बताया कि घटना को लेकर जांच की जा रही है। वारदात करीब तीन सप्ताह पहले की है। अभी इस बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

Edited By: Naveen Dalal