जागरण संवाददाता, हिसार : हिसार एयरपोर्ट के सामने स्कॉडा जलघर के पास सरकारी जमीन पर बस स्टैंड शिफ्ट करने के मुद्दे पर एक बार फिर विचार शुरू हो गया है। बस स्टैंड को शहर से बाहर शिफ्ट करने को लेकर अतिरिक्त उपायुक्त (एडीसी) की अध्यक्षता में 25 फरवरी को बैठक बुलाई गई है। मुख्यमंत्री की इस घोषणा को सिरे चढ़ाने के लिए कमेटी के सभी सातों सदस्यों को परिवहन विभाग के महाप्रबंधक की ओर से बैठक के लिए पत्राचार किया गया है। बैठक में सबसे अहम जनस्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट रहेगी। कारण है कि इस जमीन पर प्रपोजल सिरे चढ़ाने में जनस्वास्थ्य विभाग की भूमि अभी तक नहीं मिलना बड़ी अड़चन बना हुआ है। ऐसे में जनस्वास्थ्य विभाग बस स्टैंड के लिए अपनी जमीन परिवहन विभाग को देगा या नहीं, इसका फैसला 25 से पहले जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता के नेतृत्व में मौका निरीक्षण के बाद ही लिया जाएगा। अब कमेटी को इस निरीक्षण रिपोर्ट का इंतजार है।

हिसार बस स्टैंड 11 अगस्त 1969 को बना। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 29 दिसंबर 2014 को बस स्टैंड को लेकर घोषणा की थी। पहले बस स्टैंड की पिछली दीवार को तोड़कर साउथ बाईपास से जोड़ने का प्रपोजल बना, जो सिरे नहीं चढ़ा। अब बस स्टैंड को शहर से बाहर शिफ्ट करने के प्रपोजल पर काम हो रहा है। जिसको राज्य परिवहन निदेशक की ओर से हरी झंडी मिल चुकी है। इस प्रपोजल को अब जमीन का इंतजार है। इसी कड़ी में 25 फरवरी को लघु सचिवालय के मीटिग हॉल में बैठक बुलाई गई है। यह प्रपोजल सिरे चढ़ता है तो वर्तमान बस स्टैंड के मुख्य गेट के पास प्रतिदिन लगने वाले जाम से जनता को राहत मिलेगी।

-------------------------------------

प्रपोजल सिरे चढ़ाने में आ रही अड़चन

परिवहन विभाग ने एयरपोर्ट के सामने स्कॉडा जलघर के पास 153 कनाल व 9 मरला सरकारी जमीन देखी है। इसमें से राजकीय पशुधन फार्म (जीएलएफ) की 74 कनाल 15 मरले जमीन है। जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिक विभाग की 78 कनाल 14 मरला जमीन है। कुल 153 कनाल और 9 मरला भूमि पर बस स्टैंड बनाने पर विचार-विमर्श चल रहा है। इसमें जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिक विभाग की यह जमीन स्कॉडा जलघर के पास जरूरत पड़ने पर भविष्य में जलघर की क्षमता बढ़ाने के लिए रिजर्व है। ऐसे में जनस्वास्थ्य विभाग इसके आसपास जमीन तलाश रहा है ताकि भविष्य में जरूरत पड़ने पर वह जमीन जलघर की क्षमता बढ़ाने में प्रयोग हो सके। इसलिए यह जमीन देने को लेकर अभी जनस्वास्थ्य विभाग ने फाइनल फैसला नहीं लिया है। साथ ही फाइल मुख्यालय को भी भेजी हुई है।

-------------------------

एडीसी की अध्यक्षता में 25 फरवरी को बस स्टैंड शिफ्टिग को लेकर मीटिग होगी। मीटिग में प्रपोजल के संबंध में आगामी कार्रवाई की जाएगी।

- राहुल मित्तल, महाप्रबंधक, परिवहन विभाग हिसार।

-------------------------

बस स्टैंड शिफ्टिग के लिए जनस्वास्थ्य विभाग की जमीन मांगी गई है। भविष्य में जलघर की क्षमता बढ़ाने के वहां क्या-क्या विकल्प हैं, उन्हें ध्यान में रखते हुए जमीन के संबंध में आला अफसरों के माध्यम से फैसला लिया जाना है। इस बारे में 25 फरवरी से पहले अधीक्षक अभियंता के साथ मौका निरीक्षण करेंगे।

रूपेश, एक्सईएन, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिक विभाग हिसार।

--------------------------

सीएम को बस स्टैंड शिफ्टिग को प्रपोजल हमने भेजा हुआ है। इस बारे में काफी समय पहले अधिकारियों से मेरी बातचीत हुई थी। इस बारे में वर्तमान में स्टेट्स क्या है, इस बारे में जानकारी ली जाएगी। बस स्टैंड बाहरी क्षेत्र में जाने से यहां प्रतिदिन लगने वाले जाम से मुक्ति मिलेगी।

- डा. कमल गुप्ता, विधायक, हिसार।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस