हांसी, जेएनएन। कोरोना मामले में पुलिस की छव‍ि सुधरी है मगर फिर भी कुछ मामले इस तरह के सामने आ जाते हैं जिससे पुलिस की फजीहत होती है। चालान ना काटने के एवज में सरेआम रिश्वत लेते ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के मामले में एसपी ने कड़ा संज्ञान लिया है। उन्होंने वीडियो सामने आते ही तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपित ट्रैफिक कर्मी को सस्पेंड कर दिया व दो होमगार्ड जवानों को भी ड्यूटी से वापस भेज दिया है।

वायरल वीडियो से ट्रैफिक पुलिस की काफी फजीहत हुई है। वीडियो में 500 रुपये लेते हुए दिख रहा है। यह जांच के बाद पता चलेगा कि पैसे इतने थे या ज्यादा। काली देवी मंदिर चौक के पास का एक वीडियो शुक्रवार को वायरल हुआ था, जिसमें कुछ ट्रैफिक पुलिस कर्मी वाहन का चालान ना काटने के एवज में पैसे लेते हुए दिखाई दे रहे हैं। एक महिला द्वारा ट्रैफिक पुलिस के हेड कांस्टेबल को पैसे दिए जा रहे हैं।

हालांकि ये घटना करीब एक महीने पहले की बताई जा रही है, लेकिन शनिवार सुबह से ये वीडियो शहर में जमकर वायरल हुआ। एसपी के संज्ञान में मामला आते ही उन्होंने डीएसपी की अगुवाई में जांच बैठा दी। प्रारंभिक जांच में पुलिस कर्मियों का ये वीडियो सही पाया गया है। जिसके बाद एसपी लोकेंद्र ¨सह ने तुरंत कार्रवाई करते हुए ईएचसी विजेंद्र को सस्पेंड करते हुए उसके खिलाफ विभागीय जांच शुरू करने के निर्देश दे दिए। इसके अलावा वीडियो में दिख रहे दो होमगार्ड के जवानों को ड्यूटी से वापस भेज दिया है। वीडियो की पूरी सच्चाई जांच पूरी होने के बाद ही सामने आएगी।

---- डीएसपी को जांच सौंपी जिला पुलिस के एक ईएचसी का वीडियो सोशल मीडिया के जरिये मिला था। जिस पर कार्रवाई करते हुए ईएचसी विजेंद्र को सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले में आगे की जांच डीएसपी को सौंपी गई है। जिला पुलिस में अनुशासनहीनता किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

- लोकेंद्र ¨सह, एसपी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस