हिसार/हांसी, जेएनएन। हिसार जिले के शेखपुरा गांव में चार साल पूर्व 13 मार्च 2017 को फाग के दिन ट्रिपल मर्डर मामले में 8 लोगों को दोषी करार दिया है। मंगलवार को हिसार कोर्ट में वेद प्रकाश सिरोही कि अदालत में सुनवाई हुई । मामले में अदालत ने शेखपुरा निवासी अशोक, कृष्ण, अजीत, उमेद, रामफल, संदीप, सुभाष, दलेल को प्रदीप, मुकेश और रामकुमार की हत्या मामले में दोषी क़रार दिया। दोषियों को 5 मार्च को सजा सुनाई जाएगी। गौरतलब है कि मामले में शेखपुरा निवासी संजय ने हांसी थाना में शिकायत दी थी।

इस मामले में डीएसपी भगवानदास सहित 24 लोगों के खिलाफ आरोप लगे थे। हालांकि बाद में डीएसपी भगवानदास ने सर्विस रिवाल्वर से पंचकूला में आत्महत्या कर ली थी। इस मामले में पुलिस ने पिछले साल 22 अगस्त को चार्जशीट पेश की थी।

बता दें कि 14 मार्च 2017 को फाग के दिन शेखपुरा गांव में दो गुटों के बीच खूनी खेल हुआ था। जिसमें एक गुट के रामकुमार, प्रदीप व मुकेश की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। आरोप डीएसपी भगवान दास पर लगे थे। पुलिस ने 23 लोगों को नामजद करते हुए करीब 4-5 अन्य लोगों के खिलाफ आर्म्स एक्ट, हत्या सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया था। इस मामले में एसआइटी द्वारा जांच की गई थी। इस वारदात के बाद भी शेखपुरा गांव में दोनों गुटों के बीच विवाद चलता रहा। आखिरी आरोपित को 2019 में 4 अगस्त को कृष्ण उर्फ धोलू को गिरफ्तार किया था।

चुनावों में जीत गई थी डीएसपी की बेटी

शेखपुरा गांव में 2017 के पंचायत चुनावों में डीएसपी की बेटी ने जीत हासिल की थी। बताया जाता है कि इसके बाद ही दोनों गुटों के बीच विवाद शुरु हो गया। गांव में एक बड़ा आश्रम भी है जिसे लेकर भी दोनों गुटों के बीच विवाद था।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021