जागरण संवाददाता, हिसार : लोकसभा चुनावों को लेकर स्क्रूटनी में 55 में से 20 आवेदन रद हो चुके हैं। नामांकन वापसी के पहले दिन बृहस्पतिवार को जेजेपी प्रत्यशी दुष्यंत चौटाला के कवरिग कैंडिडेट उमेद सिंह लोहान ने नामांकन वापस ले लिया है। नामांकन रद होने के बाद 35 प्रत्याशी रह गए। जिसमें से उमेद लोहान के नाम वापस लेने के बाद इनकी संख्या अब 34 रह गई है। शुक्रवार को नामांकन वापसी का अंतिम दिन है। दोपहर तीन बजे से पहले नामांकन वापसी होने के बाद चुनाव चिह्न दिए जाएंगे। चुनाव चिह्न अलॉट होने के बाद फाइनल प्रत्याशियों की सूची जारी हो जाएगी। अगर अंतिम दिन कोई प्रत्याशी नामांकन वापस नहीं लेता तो 34 प्रत्याशियों के हिसाब से तीन ईवीएम लगानी होगी। एक ईवीएम में नोटा सहित 16 प्रत्याशी होते हैं।

----------

लोकसभा आम चुनाव-2019 को लेकर नामांकन पत्रों की छंटनी का कार्य किया गया। जिनके नामांकन रद हुए हैं उनमें अधिकतर कवरिग और निर्दलीय उम्मीदवार हैं। छंटनी का कार्य जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार मीणा की देखरेख में किया गया। शुक्रवार दोपहर बाद चुनाव मैदान में डटे रहने वाले प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह अलॉट किए जा सकेंगे।

इनके नामांकन हुए रद

छंटनी में अपनी डैमोक्रिस पार्टी के धर्मबीर, निर्दलीय अमन, सुरेंद्र सिंह, रामफल, हरेंद्र सिंह, धर्मपाल, मनोज कुमार, राजेंद्र, आवेश मुदगिल, जगदीश असीजा, कुलदीप, आपकी अपनी पार्टी से मनीश कुमार, अखिल भारतीय अपना दल से बारू, भूपसिंह, भारतीय किसान पार्टी महेंद्र, पवित्र, कमलेश, अंबेडकर समाज पार्टी संजय कुमार का नामांकन रद हुआ है।

-----------

लोकसभा चुनाव को लेकर पुलिस ने जिले में 20 नाके लगाए : एसपी

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई जागरण संवाददाता, हिसार : पुलिस अधीक्षक शिवचरण ने लोकसभा चुनाव बारे कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिले में विभिन्न थानों के अन्तर्गत 20 नाके लगाए जाने के आदेश दिए हैं। चुनाव 12 मई को होने हैं। अवैध शराब, मादक पदार्थ की तस्करी और अन्य गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने के लिए पुलिस द्वारा जिले में 20 स्थानों पर विशेष नाके लगाकर नाकेबंदी की जा रही है। जिसके परिणामस्वरूप सभी संदिग्ध वाहनों और असामाजिक तत्वों पर पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। जिले के सभी पीसीआर और राइडर को अपने-अपने क्षेत्र में प्रभावी पेट्रोलिग कर सभी आने-जाने वाले वाहनों को चेक के आदेश दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त जमानत पर छूटे आपराधिक प्रवृति के लोगों की गतिविधियों को चेक करने के आदेश दिए गए हैं। असलाधारकों को चुनाव से पहले अपने हथियार जमा करवाना आवश्यक है। इन निर्देशों के मद्देनजर जिले में 90 प्रतिशत हथियार जमा कराए जा चुके हैं।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान पुलिस अधिकारियों को सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रखने के आदेश दिए है। एक विशेष टीम इस दिशा में काम कर रही है। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले असमाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिस लगातार अपराधियों की धड़पकड़ के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। अवैध शराब, अवैध हथियार, नशीले पदार्थ और तस्करी करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस