हांसी/हिसार, जेएनएन। हनीट्रैप के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। हिसार में एक अन्‍य मामला बेहद चर्चित रहा और पुलिस महिला अधिकारी इसमें पाई गई संलिप्‍तता चर्चा का विषय बनी रही। वहीं पिछले वर्ष के चर्चित रहे एक हनीट्रैप मामले में पुलिस ने आखिरकार 6 महीने बाद दो मुख्य आरोपितों हरदीप शर्मा व धौलिया गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपितों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां अदालत ने दोनों आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

इससे पहले आरोपित खाप नेता हरदीप शर्मा की अग्रिम जमानत की याचिका को सेशन कोर्ट व हाईकोर्ट ने नामंजूर कर दिया था। कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका नामंजूर होने के बाद हरदीप शर्मा की मुश्किलें बढ़ गयी थी। केस दर्ज होने के बाद से आरोपित हरदीप शर्मा, धौलिया गुर्जर व पप्पू गुर्जर फरार चल रहे थे।

 

बता दें कि गत वर्ष 13 सितंबर को बोघा राम कालोनी निवासी रमेश धोबी ने एसपी विरेंद्र विज को शिकायत दी थी कि धौलिया गुर्जर, पप्पू गुर्जर व हरदीप शर्मा ने उस पर शहर थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज होने का डर दिखाकर 14 लाख रुपये की डिमांड की थी।

इसके बाद तीनों ने मिलकर उससे दस  लाख रुपये की जबरन वसूली की थी। एसपी ने तत्कालीन डीएसपी प्रमोद कुमार को इस मामले की जांच सौंपी थी। प्रमोद कुमार की जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी ने इस मामले में एएसआइ रणबीर सिंह व एसआइ जयबीर को सस्पेंड कर विभागीय जांच के आदेश दिए थे। हालांकि बाद में इन्हें बहाल कर दिया

Posted By: manoj kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस