हिसार, जेएनएन। किसान आंदोलन में युवती से सामूहिक दुष्‍कर्म और मौत मामले में एक के बाद एक नए मोड़ आ रहे हैं। अब हिसार के चानौत गांव में रोघी खाप की शुक्रवार सुबह पंचायत हुई। इसमें टीकरी बॉर्डर पर पश्चिम बंगाल की युवती से दुष्कर्म के आरोपित एंव आप नेता अनूप चानौत का समर्थन करने का फैसला किया गया। इस दौरान ग्रामीणों और क्षेत्र के लोगों ने संयुक्त किसान मोर्चा से मिलने का फैसला भी किया। रोघी खाप के प्रधान सुमेर सिंह ने एलान किया कि खाप अन्य आरोपितों की खापों का भी साथ लेगी। सुमेर सिंह ने कहा कि हमारे लड़के बेकसूर हैं, सरकार उन्हें इस मामले में बेवजह फंसा रही है।

उन्होंने कहा कि मामले में आरोपित बनाए गए दो लड़कों और दो लड़कियों की खाप से भी वे संपर्क कर रहे हैं। जल्द सर्व खाप महापंचायत कर ठोस निर्णय लिया जाएगा। इस दौरान ग्रामीणों और रोघी खाप ने एकमत से कहा कि पीड़िता को न्याय मिलना चाहिए लेकिन सरकार बेकसूर को बलि का बकरा न बनाए।  

रोघी खाप पंचायत में मुख्य रूप से प्रधान सुमेर सिंह डाटा, सर्वखाप के प्रवक्ता मास्टर फूल सिंह,सत्यवान ठेकेदार, पूर्व सरपंच वेदप्रकाश, काला ठेकेदार, अभय राम ठोलेदार, मांगेराम, टेकराम प्रधान, शोभाराम सरपंच, दरिया सिंह, महेंद्र, इंदराज, विकास पंच, राजबीर पंच, सत्यवान, राजेंद्र पंच, फतेहराम, शीला नंबरदार, रामेश्वर नंबरदार, रामकुमार नंबरदार, रामपाल मेंबर, ईश्वर पंच, और गण्यमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

इससे पहले मंगलवार को अनूप सिंह चानौत ने अपना एक वीडियो जारी कर माना कि युवती से उनके संगठन से जुड़े अनिल मलिक ने छेड़छाड़ की थी, हालांकि दुष्कर्म होने की बात से उसने इनकार किया। मंगलवार को अनूप चानौत के चार वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए। इनमें उसने पुलिस द्वारा बनाए गए छह आरोपितों में से खुद समेत पांच को पूरी तरह निर्दोष कहा है। उसने अनिल मलिक को कई बार दोषी ठहराया है और मलिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी हिमायत की है। उसने बताया है कि अनिल मलिक की गलत हरकतों की वजह से उसने अपने संगठन से मलिक को तुरंत अलग कर दिया था। गौरतलब है कि अनूप सिंह किसान सोशल आर्मी का संस्थापक मुखिया है।