फोटो : छह

जागरण संवाददाता, हिसार : गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार का फिजियोथेरेपी विभाग ने केवल फिजियोथेरेपी चिकित्सा की शिक्षा में, बल्कि समाज के लोगों को फिजियोथेरेपी एवं योग चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध करवाने में भी अग्रणी है। फिजियोथेरेपी की ओपीडी सेवा अत्यंत लोकप्रिय है और जरूरतमंद इसका लाभ उठा रहे हैं। इस विभाग में प्रतिदिन 50 से अधिक जरूरतमंद फिजियोथेरेपी एवं योग चिकित्सा की निशुल्क सेवा लेने के लिए आते हैं, जिन्हें विभाग के शिक्षक तथा विद्यार्थी अपनी सेवाएं देते हैं। विभागाध्यक्ष डा. शबनम जोशी ने बताया कि विभाग वर्तमान समय में गर्दन दर्द, पीठ दर्द, हड्डी टूटने के बाद रिकवरी के लिए, घुटनों एवं जोड़ों तथा अन्य संबंधित समस्याओं के लिए अपनी सेवाएं देता है। विभाग न्यूरोलाजी से संबंधित परेशानियों से रिकवर करने के लिए जैसे अधरंग, स्ट्राक, रीड की हड्डी से संबंधित समस्या और अन्य संबंधित समस्याओं के लिए भी उपचार उपलब्ध करवाता है। विश्वविद्यालय का फिजियोथेरेपी विभाग यथा समय खिलाड़ियों को भी खेल के दौरान लगने वाली चोटों से उबरने के लिए भी उपचार में मदद करता है। डा. शबनम जोशी ने बताया कि विश्वविद्यालय के फिजियोथेरेपी विभाग की ओपीडी में लेजर, आईएफटी, अल्ट्रासाउंड और लोंग वेव थेरेपी जैसे अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध हैं। विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए भी जनजागरूकता अभियान चलाता है। विशेषकर विश्वविद्यालय के खेल आयोजनों में स्पो‌र्ट्स फिजियोथेरेपी की सेवा भी प्रदान करता है।डा. जोशी ने बताया कि विश्वविद्यालय का फिजियोथेरेपी विभाग वर्तमान में पांच कोर्स संचालित कर रहा है, जिनमें विभाग बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी, मास्टर आफ फिजियोथेरेपी, पीजी डिप्लोमा इन योगा साइंस एंड थेरेपी, एमएससी योगा साइंस एंड थेरेपी और पीएचडी इन फिजियोथेरेपी आदि कोर्सिज के माध्यम से सैकड़ों विद्यार्थियों को शिक्षण व प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है।

Edited By: Jagran