जागरण संवाददाता, रोहतक : डोभ गांव के रहने वाले युवक से एक प्रतिष्ठित कंपनी की स्कूटी बुक कराने के नाम पर 67324 रुपये ठग लिए गए। यहां तक कि ठग ने पीड़ित को बेंगलूरू में अपना आफिस बताया, जहां पहुंचने के बाद पता चला कि वहां इस नाम से कोई आफिस ही नहीं है। डोभ गांव के रहने वाले मंजीत ने बताया कि 31 दिसंबर को उसने एक प्रतिष्ठित कंपनी की स्कूटी खरीदने के लिए आनलाइन आवेदन किया था। कुछ देर बाद अज्ञात नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने खुद का नाम आरके मल्होत्रा बताया, जिसने कहा कि वह कंपनी का कर्मचारी बात कर रहा है। स्कूटी बुक कराने के लिए 24999 और 42325 रुपये देने होंगे। इसके बाद मंजीत ने वाट्सएप पर आधार कार्ड समेत अन्य दस्तावेज भेज दिए।

आरोपित ने एक पीडीएफ फाइल भेजी, जिसमें क्यूआर कोड को स्कैन कर मंजीत ने 24999 और 42325 रुपये जमा करा दिए। आरोपित ने फिर से कहा कि स्कूटी की पूरी पेमेंट करनी होगी। पूरी पेमेंट किए बिना स्कूटी नहीं मिलेगी। जिस पर मंजीत ने कहा कि आप आर्डर कैंसिल करते हुए मेरे रुपये वापस कर दो। आरोपित ने रुपये देने से मना कर दिया। शक होने पर पीड़ित ने कंपनी के कस्टमर केयर पर फोन किया। वहां पर भी राजीव नाम के व्यक्ति से बात हुई। जिसने बताया कि वह हेड डिपार्टमेंट से बोल रहा है और बाकी रकम भेज दीजिए। पीड़ित ने कंपनी का पता पूछा। जिस पर ठग ने बताया कि उनका आफिस बेंगलूरू में है। पीड़ित ने अपने किसी पहचान वाले को वहां पर भेजा। जहां इस कंपनी का कोई आफिस ही नहीं मिला। तब जाकर पीड़ित काे ठगी का पता चला। पीड़ित की शिकायत पर बहुअकबरपुर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

रोहतक में 2 छात्रों से मारपीट कर लूट की

उधर, जनता कालोनी के रहने वाले सुरेंद्र कुमार ने सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है। इसमें बताया कि उसका भतीजा पीयूष और उसका दोस्त गौरव माडल टाउन स्थित एकेडमी में पढ़ते हैं। शाम के समय वह दोनों घर लौट रहे थे, तभी कार सवारों ने उनका पीछा किया और टक्कर मारकर उन्हें गिरा दिया। इसके बाद कार से तीन आरोपित उतरे, जिन्होंने छात्रों के साथ मारपीट की। इसके बाद आरोपितों ने पीयूष की जेब से 500 रुपये निकाल लिए और जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।

Edited By: Manoj Kumar