जागरण संवाददाता, हिसार। आदमपुर एरिया से ग्रुप लोन फाइनेंस कंपनी के कारिंदों से लूट करने के मामले में पुलिस ने चाराें आरोपितों को गिरफ्तार किया है। अब पुलिस चारों आरोपित से लूटे गए पैसे बरामद करने के लिए चार आरोपितों को पुलिस रिमांड पर लेगी। किसके लिए चारों को अदालत में पेश किया जाएगा, जहां से पुलिस रिमांड की मांग करेगी। इस बारे में डीआईजी बलवान सिंह राणा ने वीरवार को अपने आफिस में प्रेस कान्फ्रेंस की, उसी में यह जानकारी दी।

पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि 10 दिन पहले ही किरावड़ से खानक रोड पर बाइक चोरी किया था। साल 2021 मेंं रंगदारी की मांग की थी। आरोपित अजय ने अपने साथियों के साथ सीसवाल निवासी नरेश की दुकान पर फिरौती मांगी थी, गांव काबरेल गांव में सीसवाल निवासी मुकेश का रास्ता बाइक छीना था।

पुलिस प्रशासन ने आरोपित अजय ने बताया कि बलवान, सौरभ, अजीत उर्फ पुनीत उसके दोस्त हैं। अक्सर वह उसके दुकान पर मिलते थे और बलवान को पैसों की जरूरत थी। एक दिन उसकी मौसी ने बताया कि उसके पास एक व्यक्ति किस्त के लिए पैसे लेने आता है और उसके पास काफी रुपए होते हैं। जब वह उसके पास किस्त लेने आएगा तो वह उनको बता देगी। उसी आधार पर उन्होंने लूट की योजना बनाई ओर सौरभ और पुनीत भी उसकी योजना में शामिल हुए। 4 जनवरी को उसकी मौसी का फोन आया और कहा कि किस्‍त लेने के लिए कंपनी का कारिंदा आया है।

वह सभी साथी गांव काबरेल के बस अड्डा पर इकट्ठे हो गए। मौसी ने फोन कर कहा कि किस्‍त लेने वाला किस्त लेकर चल पड़ा है। उसके बाद वह बस अड्डे से बाइक सवार कारिंदे का पीछा करने लगे। अजय ने उसके बाइक की चाबी निकाल दी और पिस्तौल कनपटी पर लगा उसका बैग और मोबाइल लूट कर वहां से सभी फरार हो गए। जिसमें 22 हजार 500 रुपये थे, जो उन्होंने आपस में 5500-5500 रुपये बांट लिए। इस मामले में आदमपुर थाना में ग्रुप लोन फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी रोहतक के कानी गांव निवासी शक्ति ने दी थी। पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपित में गांव काबरेल निवासी अजय, बलवान, आदमपुर निवासी अजीत उर्फ पुनीत व सौरभ शामिल हैं।

Edited By: Manoj Kumar