सिरसा, जागरण संवाददाता। पंजाब बार्डर के गांव हस्सू व नौरंग के बीच हुई सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई है। हादसा पिकअप के पेड़ से टकराकर अनियंत्रित होकर पलटने से हुआ है। मृतकों में दो सगे भाई भी हैं। पेड़ से गाड़ी टकराने के बाद घायलों को पहले रामा मंडी के अस्पताल ले जाया गया जहां से उन्हें बठिंडा रेफर कर दिया गया।

इलाज के दौरान मौत

इलाज के दौरान अभिलेख उर्फ भूरा 27 वर्ष, नरेश 29 वर्ष, प्रिया 6 साल व अवधेश की मौत हो गई। अभिलेख व प्रिया बाप-बेटी हैं जबकि अवधेश भी निकट रिश्तेदार बताया गया है। मृतक उत्तरप्रदेश के मैनपुरी जिले के कुंडी गांव के रहने वाले हैं और बठिंडा की एक फैक्ट्री में काम कर रहे थे। परिवार के दस सदस्य राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के गोगा मेड़ी में पूजा अर्चना के लिए गए थे।

मंगलवार को परिवार दोपहर को गोगा मेड़ी से बठिंडा के लिए चला था। पंजाब बार्डर के समीप गांव नौरंग के पास पिकअप गाड़ी अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई जिसमें कई सदस्यों को गंभीर चोटें आई और इलाज के दौरान चार की मौत हो गई। कालांवाली के थाना प्रभारी ओमप्रकाश ने बताया कि चार की मौत हुई है। इस मामले में अभी पुलिस टीम जांच के लिए बठिंडा गई हुई है।

डबवाली में दिनदिहाड़े 11.43 लाख रुपए लूटे, डबवाली के सबसे भीड़भाड़ वाले इलाके में सरेराह हुई वारदात

मंगलवार को बदमाश डबवाली के कॉलोनी रोड पर एक निजी कम्पनी के कर्मचारी से 11.43 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। वारदात दोपहर बाद करीब पौने 2 बजे की बताई जाती है। दिनदहाड़े सरेराह हुई वारदात के मद्देनजर एसपी अर्पित जैन मौका पर पहुंचे। इसके बाद पीड़ित कर्मचारी से घटनाक्रम को सुना।

यूं हुई वारदात

किलियांवाली (जिला श्री मुक्तसर) निवासी मुकेश (32) ने बताया कि वह वर्ष 2015 से रेडियंट कम्पनी में काम करता है। यह कंपनी सर्विसेस प्रोवाइड करवाने वाली कंपनियों से कैश इकट्ठा करके बैंक में जमा करवाती है। आज वह डबवाली में सात स्थलों से कैश इकट्ठा करके बैंक में जमा करवा आया था। दोपहर बाद करीब 1.30 बजे कॉलोनी रोड पर स्थित गली श्री अन्नपूर्णा मंदिर वाली में इंस्टा कार्ट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के कार्यालय में कैश लेने गया था।

करीब पौने दो बजे 11 लाख 43 हज़ार 324 रुपए लेकर बैंक में जमा करवाने निकला था। उक्त रुपये पिट्ठू बैग में थे। वह बाइक पर केनरा बैंक की ओर जा रहा था। कॉलोनी रोड पर स्थित चुंगी स्कूल के समीप मुंह ढांपे दो युवकों ने उसका गला पकड़ लिया। उससे मारपीट करने लगे। आरोपितों के पास लोहे की राड थी। रुपयों से भरा पिट्ठू बैग लूटकर बाइक पर फरार हो गए। लुटेरों की संख्या तीन से चार बताई जा रही है।सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

दिनदहाड़े कॉलोनी रोड पर हुई लूट की वारदात में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस के हाथ कुछ ऐसे सबूत लगे हैं जिससे पता चलता है कि लुटेरे करीब पौने 3 घंटे से वारदात स्थल पर मौजूद थे। वे मुकेश की प्रतीक्षा कर रहे थे। स्थानीय लोगों को मुंह ढांपे बदमाशों पर शक हुआ लेकिन पुलिस को सूचना देने की हिम्मत नहीं जुटा पाए। लोगों की नासमझी के कारण शहर में बड़ी वारदात हो गई। कुछ मोबाइल वीडियो भी सामने आए हैं। जिससे पता चलता है कि जब लुटेरे कर्मचारी पर हमला कर रहे थे, उस वक्त लोग तमाशा देख रहे थे।

नम्बर प्लेट पर लगा रखा था कीचड़

पुलिस सूत्रों के मुताबिक बदमाशों की संख्या चार थी। सुबह करीब 11:00 बजे से कॉलोनी रोड पर मौजूद थे। बदमाशों के पास दो बाइक थी, उन्होंने बाइक की नंबर प्लेट को कीचड़ लगा रखा था। ताकि नम्बर ना पढा जा सकें। मुंह पर रुमाल से युवक संदिग्ध प्रतीत हो रहे थे। यह भी बताया जा रहा है कि कॉलोनी रोड पर स्थित एक बेकरी के समीप लगने वाली रेहड़ी से लुटेरों ने गोल गप्पे भी खाए थे।

पुलिस के अनुसार समझा जा रहा है कि बदमाशों ने रेकी के बाद वारदात अंजाम दी थी।

चार दिन का कैश था

पुलिस के मुताबिक मुकेश के पास चार दिन का कैश था। इसकी वजह बैंकों के छुट्टी बताई जाती है। हालांकि मुकेश का कहना है कि वह एक दिन कैश इकट्ठा करता है, उसे अगले दिन जमा करवाता है।

पांच टीम गठित

मुकेश के बयान पर केस दर्ज किया गया है। बदमाश बाइक पर फरार हुए हैं। सभी ने मुंह ढांपे हुए थे। लूट की गुत्थी सुलझाने के लिए सीआईए सिरसा, कालांवाली, डबवाली समेत शहर तथा सदर थाना डबवाली की पांच टीम गठित की गई हैं। साइबर सेल की मदद ली जा रही है।

-अर्पित जैन, एसपी, सिरसा।

Edited By: Naveen Dalal