जागरण संवाददाता, हिसार : कोरोना से होने वाली मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा हैं। कोविड-19 संक्रमितों के लिए अग्रोहा में बनाए गए श्मशानभूमि पर इन दिनों नगर निगम की टीम को अंतिम संस्कार करने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कारण है कि पूर्व में हुई बरसात के कारण लकड़ियां गीली हो गई थी। सुखी लकड़ियां खत्म हो चुकी है अब जो लकड़ियां बची है उनमें सीलन है। लकड़ियों में आई सीलन निगम की टीम के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। ऐसे में अग्रोहा में निगम टीम के इंचार्ज सुनील कुमार ने प्रशासन से मांग की है कि कोरोना के कारण मरने वालों के लिए अग्रोहा में बनाई गए श्मशानघाट में शेड का प्रबंध किया जाए ताकि आगामी समय में लकड़ियों को गीला होने से बचाया जा सके।

-------

टीम के पास नहीं पर्याप्त संसाधन

प्रशासन कोरोना में प्रबंधों के जितने पुख्ता प्रबंधों के दावे कर रही हो लेकिन धरातल का सच तो यह है कि कोरोना के कारण मरने वालों के अंतिम संस्कार करने वाली टीम के पास पर्याप्त संसाधन तक का नहीं है। उनके पास संसाधनों का अभाव है। जिसके कारण उन्हें कोरोना के कारण मरने वालों के अंतिम संस्कार करने में भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। बैठने के लिए कमरे तक नहीं और पर्याप्त सैनिटाइजर का भी अभाव है। कोरोना में अंतिम संस्कार करने वाली टीम के सदस्यों की माने तो उनके पास सैनिटाइजर से लेकर ग्लब्ज तक पर्याप्त नहीं है। कई बार में मांगने पर कुछ संसाधन अवश्य मिले है। ऐसे में टीम इंचार्ज सुनील कुमार सहित सुरेंद्र, दीनेश, सोनू और राजेंद्र कोरोना योद्धा बन जनसेवा में कोरोना के कारण मरने वालों का संसाधनों के अभाव में भी अंतिम संस्कार कर रहे है।

-------

सात कुंड एक भी नहीं शेड

अग्रोहा में ईंटों से नगर निगम की टीम ने अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशानभूमि पर करीब सात कुंड बनाए हुए है। जिन पर प्रतिदिन औसतन तीन शवों का अंतिम संस्कार कर रहे है। यह जगह श्मशानभूमि से कुछ दूरी पर अस्थाई तौर पर श्मशानघाट के रुप में तैयार की गई है। यहां पर लंबे समय से शैड लगवाने की मांग चल रही है। लेकिन अभी तक उचित व्यवस्था नहीं हो पाई है।

--------

लकड़ियों में सीलन होने के कारण अंतिम संस्कार करने में निगम टीम को दिक्कत आ रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीम से सैनिटाइजर से लेकर ग्लब्ज तक की मांग की है हालांकि उन्होंने कुछ संसाधन अवश्य उपलब्ध करवाए है। जिसमें मुख्यतय 100 पीपी कीट शामिल है। हमारी मांग है कि शैड का और हमारे बैठने के लिए एक कक्ष का प्रबंध करवाया जाए। इसके लिए हमें अग्रोहा ट्रस्ट की ओर से आश्वासन मिला है।

- सुनील कुमार, अंतिम संस्कार करने वाली टीम इंचार्ज और जिला प्रधान, नगर पालिका कर्मचारी संघ हिसार।