जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : क्षेत्र के गांव रोहद में शनिवार की रात एक व्यक्ति की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। इसी गांव के एक परिवार पर हत्या का आरोप है। करीब नौ साल पहले हुई हत्या के एक मामले की रंजिश में इस वारदात को अंजाम दिया गया। आसौदा थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। शव काे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मृतक की पहचान कृष्ण के रूप में हुई है। वह छह भाइयों में सबसे छोटा था। पुलिस ने मृतक के भतीजे नरेंद्र की शिकायत पर गांव के आशीष उर्फ काला व उसके परिवार के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बताया गया है कि मृतक कृष्ण अविवाहित था।

वह शनिवार की रात को आरोपित आशीष के घर गया हुआ था। वहीं पर पहले तकरार हुुई। उसके बाद कृष्ण वहां मृत मिला। शिकायतकर्ता नरेंद्र ने पुलिस को बताया कि उसका चाचा कृष्ण उनके घर पर खाना खाता था और अलग घर में रहता था। शनिवार की रात को जब उसका चाचा घर नहीं आया तो वह देखने के लिए सड़क की तरफ गया। वहां पर कृष्ण और आरोपित काला दोनों काला के ही कमरे में बैठे हुए थे। दोनों चिल्ला-चिल्लाकर बात कर रहे थे।

इस पर उसने अपने चाचा को घर चलने के लिए कहा तो उसने कहा कि थोड़ी देर में आ रहा हूं। इसके बाद वह घर आकर सो गया। देर रात फिर से उसकी आंख खुली तो वह अपने चाचा को देखने के लिए उसके घर गया। वहां पर वह नहीं मिला। इसके बाद वह काला के कमरे पर गया तो वहां पर उसका चाचा फर्श पर मृत हालत में मिला। उसके गले में बिजली का तार बंधा हुआ था। नरेंद्र का आरोप है कि उसके चाचा कृष्ण की हत्या आशीष उर्फ काला व उसके परिवार के लोगों ने गला घोंटकर की है।

यह बताई जा रही वजह

शिकायतकर्ता ने बताया कि करीब नौ साल पहले आरोपित काला का चाचा राजकरण व गांव का ही एक अन्य व्यक्ति मृत मिले थे। तब आशीष के परिवार के लोगों ने उसके चाचा कृष्ण व जयसिंह पर हत्या का आरोप लगाया था। उसी रंजिश में अब कृष्ण की हत्या की गई। इधर, पुलिस छानबीन में जुटी हुई है।

Edited By: Manoj Kumar