हिसार, जेएनएन। मंत्री जी, करीब एक साल पहले 12 गांव के किसानों को पानी देने के लिए हॉट लाइन बिछाई गई थी। दस माह से वह बिल्कुल खराब पड़ी है। घटिया सामग्री प्रयोग किए जाने के कारण किसान परेशान हैं। लगातार शिकायत कीं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं। अब किसान काफी परेशान हैं। ऐसी कई शिकायतें लेकर पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बिजली एवं जेल मंत्री रणजीत चौटाला के समक्ष लोग मौजूद थे। चौटाला ने पीडब्ल्यूडी रेस्ट में जनता दरबार लगाया। प्रशासनिक अधिकारियों को इस दौरान तुरंत मामले को दूर करने और किसानों को एक माह में सिस्टम ठीक करने का आश्वासन दिया। इसके अलावा बिजली विभाग की करीब 70 शिकायतें मंत्री के समक्ष पहुंचीं। निगम में समस्याओं को दो बार में ही 100 से ज्यादा शिकायत मंत्री को मिली है।

बिजली एवं जेल मंत्री रणजीत चौटाला ने कहा कि वह जनता से मिलने के लिए शनिवार को स्पेशल आए हैं। वह किसी को चक्कर नहीं काटने नहीं देंगे। हर व्यक्ति की शिकायत को सुनकर वह उसको निपटवाएंगे। जो व्यक्ति काम करवाने के लिए आए हैं, वह उनसे आराम से मिलें। चौटाला ने कहा कि उनके पास काफी विभाग है। पहले वह जनता के बीच में थे लेकिन अब सभी लोगों ने मिलकर उनको यहां बैठा दिया है। वह सरकारी विभागों के काम कहीं भी बैठकर कर सकते हैं, मगर आम आदमी से मिलकर काम करवाना मकसद है।

यह आईं शिकायतें

बिजली विभाग

निगम अधिकारी बोले, तार नहीं है

बुगाना गांव में सरकारी स्कूल के ऊपर से बिजली की हाईटेंशन तारें निकल रही हैं। यहां लोहे के खंभे भी लगे हुए हंै। इनको हटवाने के लिए गांव के लोग लगातार निगम में शिकायतें दे रहे हंै, लेकिन उनकी तरफ से एक बात कही जा रही है कि तार नहीं है, इस लिए नहीं हटा सकते। गांव के एसएमएस सदस्य चतर ङ्क्षसह ने अब बिजली मंत्री को शिकायत देकर खतरे को देखते हुए तारें हटवाने की मांग उठाई।

डेढ़ साल से दिन में नहीं मिलती बिजली

तलवंडी राणा और धान्सू गांव के ग्रामीण काफी परेशान हैं। कारण है रात को बिजली आना। किसानों को एपी लाइन से मिलने वाली बिजली की सप्लाई डेढ़ साल से उनको रात के समय मिल रही है, जबकि बिजली दिन में मिलनी चाहिए। बिजली मंत्री के दरबार में पहुंचे तलवंडी राणा निवासी हवा ङ्क्षसह पूनिया, संतलाल, आशा किरण, धान्सू निवासी सुभाष, विनोद, विक्रम आदि ने बताया कि वह लगातार सप्लाई का समय ठीक करने की मांग कर रहे हंै। मगर आजतक उनको समझ नहीं आया कि ऐसे अलग से रात को तंग करने के क्या आदेश आए हैं। मंत्री से किसानों ने समय बदलने की मांग की है।

बच्चों की पढ़ाई और घर पर काम के समय कट जाती है बिजली

सातरोड कलां के निवासी बिजली सप्लाई का उचित समय नहीं होने से परेशान हैं। सातरोड कलां निवासी प्रमोद कुमार ने शिकायत देकर कहा कि सुबह पांच बजे सप्लाई काट दी जाती है। उस समय बच्चों के सुबह उठ कर पढऩे और घर के काम का होता है। सात बजे सप्लाई आएगी तो दोबारा कब जाएगी पता नहीं। दोपहर और रात को भी ऐसे समय पर कट लगाया जाता है, जब महिलाएं घर में काम करती हैं। मंत्री से समय को सही करने की मांग करते हुए शिकायत दी गई है।

एक साल पहले युवक की हुई मौत, परिवार काट रह तार हटवाने के लिए चक्कर

किरमारा गांव में करीब एक साल पहले राजेंद्र नाम के युवक की बिजली की तारों से करंट लगने के कारण मौत हो गई थी। वह उस समय कुछ काम कर रहा है। उसके बाद छोटा भाई जोगेंद्र लगातार तार हटवाने की शिकायत दे रहा था। लेकिन जब विभाग ने कदम उठाने बंद कर दिए तो उनकी तरफ से शिकायत नहीं की। वह लगातार खर्चा देने की बात रहे थे, जो वह नहीं दे सकते थे। अब मंत्री को शिकायत देने आए हैं। उनकी तरफ से आश्वासन दिया गया है।

समाज कल्याण विभाग

वृद्धा की नहीं बना रहे पेंशन

सूर्य नगर निवासी धूप ङ्क्षसह पानू ने कहा कि समाज कल्याण विभाग उनकी पत्नी की पेंशन नहीं बना रहा है। वह बुजुर्ग होने के बावजूद उनसे दो लाख रुपये तक इनकम होने पर ही पेंशन बनाने की बात कहता है। पानू ने कहा कि वह शिक्षा विभाग से सेवानिवृत्त है। वह नियमों को लेकर मंत्री से मिलने आए थे। बुजुर्ग कोई भी हो उनको पेंशन मिलनी चाहिए। ऐसे नियमों में बदलाव होना चाहिए।

जेल

ऐसे नियम बनाए, घर से हो गए दूर

जेल में नौकरी करने वाले कर्मचारी काफी परेशान हैं। उनकी तरफ से जेल मंत्री रणजीत चौटाला से ट्रांसफर पॉलिसी पर सवाल उठाते हुए उसको सही करने की मांग उठाई गई है। जेल कर्मचारियों ने मांग पत्र सौंपते हुए कहा कि नई पॉलिसी के कारण हर कर्मचारी अपने घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर हो गया है। पहले ही 22 हजार कैदियों को बहुत कम कर्मचारी संभाल रहे हंै। दूसरा उनको परिवार से दूर कर जेल में नौकरी सौंप दी गई है। एक दिन की छुट्टी होने पर वह सिर्फ आ जा सकते हैं। उसमें परिवार को समय नहीं दिया जा सकता। मंत्री से बातचीत करने के बाद चौटाला ने उनको इस मामले में दोबारा बुलाया है।

सौर ऊर्जा

मलापुर गांव के ग्रामीणों ने गांव को सौर ऊर्जा से चमकाने का फैसला लिया है। गांव के सरपंच महावीर ङ्क्षसह ने राणजीत चौटाला को ग्राम पंचायत की तरफ से पत्र सौंप कर उनसे सरकारी विभागों में सौर ऊर्जा का सिस्टम लगाने की मांग की है। उनकी तरफ से गांव में मौजूद स्कूल, आंबेडकर भवन, चौपाल, ग्राम सचिवालय सहित अनेक सरकारी भवन में मांग उठाई है। वहीं ढाणियों में बिजली सप्लाई को सही करने की मांग भी मंत्री के समक्ष रखी गई है।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस