- शहर को बेसहारा पशु मुक्त करना हमारा लक्ष्य: मेयर गौतम सरदाना

जागरण संवाददाता, हिसार : गोअभयारण्य को अत्याधुनिक और उसकी सुविधाएं बढ़ाने की दिशा में नगर निगम प्रशासन ने कार्य करने की दिशा में कदम बढ़ाया है। अब नगर निगम गोअभयारण्य में पशुओं के लिए ओर अधिक सुविधाएं जुटाना चाहता है ताकि भविष्य में चारे प्रबंधन से लेकर पशुओं के लिए शैड व अन्य सुविधाएं भी बेहतर तरीके की हो। इस प्लानिग को सिरे चढ़ाने के लिए वीरवार को मेयर गौतम सरदाना की अध्यक्षता में गोअभयारण्य समिति के सदस्यों और समाजसेवियों की बैठक हुई। बैठक में गोअभयारण्य में राजेंद्र गावडिया, नरेश सिघल मंगाली वाले, राकेश अग्रवाल, सत्यप्रकाश राजलीवाला, ललित गोयल, अशोक बंसल, सत्यकाम आर्य, भीम मक्कड, कार्यकारी अधिकारी दीपक गोयल, एक्सईएन संदीप कुमार, डा अजीत कुंडू मौजूद रहे।

शहर को बेसहारा पशु मुक्त करना निगम का लक्ष्य

मेयर गौतम सरदाना ने मीटिग में कहा कि शहर को पूर्ण रूप से बेसहारा पशु मुक्त करना हमारा लक्ष्य है। इसीलिए प्रदेश सरकार द्वारा हिसार में गोअभयाण्य का निर्माण किया गया है। अब समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से गोअभयारण्य की व्यवस्थाओं में बदलाव किया जाएगा और शहर को बेसहारा पशु मुक्त किया जाएगा।

पशुबाड़ा को शिफ्ट करने के कार्य में आई तेजी

नगर निगम प्रशासन ने धान्सू रोड पशुबाड़े को शिफ्ट करने के कार्य में तेजी दिखाई है। जब से ज्वाइंट कमिश्नर बेलिना ने मामले में संज्ञान लिया है उसके बाद पशुबाड़ा शिफ्टिग कार्य सिरे चढ़ने की संभावनाएं बढ़ गई। निगम प्रशासन ने 30 जनवरी तक पशुबाड़ा शिफ्ट करने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है।

वर्जन

गोअभयारण्य का प्रबंधन मौजूदा समय में नगर निगम प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। गोअभयारण्य को अत्याधुनिक बनाने और सुविधाएं बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाने की जरूरत है। इसको लेकर गोअभयारण्य कमेटी के सदस्यों व शहर के समाजसेवियों ने संयुक्त रूप से मीटिग की है। मीटिग में गोअभयारण्य के सुचारू प्रबंधन को लेकर विचार विमर्श किया गया।

- गौतम सरदाना, मेयर, नगर निगम हिसार।

Edited By: Jagran