झज्जर, जागरण संवाददाता। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में दाखिले के लिए विद्यार्थियों के पास शनिवार को अंतिम अवसर बचा हुआ है। दाखिला लेने के इच्छुक विद्यार्थी इस अंतिम अवसर का लाभ उठा सकते हैं। जिला के सभी राजकीय एवं निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में रिक्त सीटों के प्रति संस्थान स्तर पर 15 जनवरी तक प्रतिदिन आन द स्पाट दाखिला प्रक्रिया जारी है। दाखिला 15 जनवरी तक प्राप्त नए एवं पुराने आवेदनों की संयुक्त मेरिट के आधार पर किया जाएगा तथा इसमें कोई आरक्षण लागू नहीं होगा। प्रार्थी को जिस संस्थान में दाखिले के इच्छुक हैं, उस संस्थान में पंजीकरण उपरांत अगले दिन सुबह 11 बजे अपना मेरिट कार्ड जमा करवाकर सभी मूल-प्रमाण पत्रों के साथ दाखिला फीस आनलाइन या नकद जमा करवानी होगी।

फीस जमा करवाने के लिए विकल्प

मेरिट कार्ड दाखिला वेबसाइट itiharyanaadmission.nic.in से डाउनलोड किया जा सकता है। संस्थानवार रिक्त सीटों की संख्या तथा विवरण पत्रिका में वर्णित अन्य नियम व शर्तें भी दाखिला पोर्टल पर देखी जा सकती हैं। राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में रिक्त सीटों के प्रति संस्थान स्तर पर आन दा स्पाट एडमिशन 15 जनवरी तक किए जाएंगे। आइटीआइ में सत्र 2021-22 में दाखिला लेने के लिए यह अंतिम अवसर बचा हुआ है। दाखिला लेने के इच्छुक विद्यार्थियों को 13 जनवरी तक आनलाइन आवेदन करने का मौका दिया गया था। आनलाइन आवेदन करने के बाद दाखिला हो पाएगा। इसके लिए विद्यार्थियों को सुबह 11 बजे तक उपलब्ध होकर मेरिट कार्ड जमा करवाना होगा। विद्यार्थियों को आनलाइन व आफलाइन दोनों माध्यम से फीस जमा करवाने के विकल्प दिए हैं।

प्रगतिशील किसानों को भी सम्मान योजना के लिए आवेदन करने का अंतिम दिन आज

हरियाणा सरकार ने प्रगतिशील किसानों की पहचान कर उन्हें राज्य एवं जिला स्तर पर सम्मानित करने के लिए मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान योजना की शुरुआत की है। ताकि प्रगतिशील किसान अन्य किसानों को सर्वोत्तम एवं नवीनतम कृषि प्रणाली अपनाने के लिए प्रेरित कर सकें। कृषि फसलों की उच्च उत्पादकता प्राप्त करने के साथ-साथ पानी की बचत, फसल अवशेष प्रबंधन, जैविक खेती, एकीकृत कृषि प्रणालियों व टिकाऊ कृषि जैसी नवीनतम तकनीकी को अपनाने वाले किसानों को इस योजना के तहत पुरस्कृत किया जाएगा। प्रगतिशील किसान मुख्यमंत्री प्रगतिशील किसान सम्मान योजना के तहत पुरस्कार प्राप्त करने के लिए 15 जनवरी तक कृषि विभाग की वेबसाइट पर आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। प्रगतिशील किसानों को राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार के रूप में एक किसान को पांच लाख रुपये, द्वितीय पुरस्कार के रूप में दो किसानों को तीन-तीन लाख रुपये तथा तृतीय पुरस्कार के लिए पांच किसानों को एक-एक लाख रुपये नकद प्रदान किए जाएंगे।

Edited By: Naveen Dalal