जागरण संवाददाता, हिसार। मौसम ने अचानक करवट ली है। दो दिन से रात को ठंडक महसूस हो रही है। दिन में धूप की तपिश भी कम हुई है। हिसार की बात करें तो राजस्थान से सटा होने के कारण यहां दिन और रात के तापमान में अंतर दिखाई देता है। वीरवार को हिसार में रात का तापमान 12.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से पांच डिग्री कम रहा। दिन का तापमान 34 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इस बार करवाचौथ पर सुहागिनों को चांद का दीदार करने में मुश्किलें आ सकती है, क्योंकि आसमान में बादल छाए रहने के संभावना है।

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के विभाग के विभागाध्यक्ष डा. मदन खीचड़ के अनुसार राज्य में 23 अक्टूबर तक मौसम आमतौर पर खुश्क रहने व बीच-बीच में उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण 23 अक्टूबर रात्रि से मौसम में बदलाव और 24 अक्टूबर को उत्तरी व पश्चिमी हरियाणा के ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाए रहने और गरज-चमक के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है। दक्षिण हरियाणा में कुछ स्थानों पर छिटपुट बूंदाबांदी होने की संभावना है। मौसम में बदलाव के कारण 25 अक्टूबर से राज्य में मौसम खुश्क व तापमान में हल्की गिरावट दर्ज की जा सकती है।

हरियाणा के विभिन्न जिलों में मौसम

जिला         अधिकतम     न्यूनतम

अंबाला        32.1          19.2

भिवानी        28.9          15.6

चंडीगढ़       32.5          17.4

गुरुग्राम       29.4          15.3

हिसार         34.0          12.8

नारनौल       34.0          15.8

रोहतक       32.2           14.6

सिरसा        34.0           13.3

चांद न दिखे तो चंद्रोदय वाली दिशा में दे सकते हैं अर्घ्य

हिसार के ज्योतिर्विद एवं अध्यात्मिक वक्ता पंडित देव शर्मा के अनुसार करवाचौथ पर चांद का विशेष महत्व है। चांद को देखकर ही सुहागिनें व्रत खोलती हैं। जब आसमान में बादल छाएं हो या अन्य कारण से चांद नहीं देख पा रहे हों तो चंद्रोदय के बाद उसी दिशा में अघ्र्य दिया जा सकता है। करवाचौथ का चांद पूर्व दिशा में निकलता है। करवाचौथ वाले दिन चांद निकलने का समय 19:59 यानि 7.59 बजे है।

Edited By: Kamlesh Bhatt