ओपी वशिष्ठ, रोहतक : देश में खासकर हरियाणा की बेटियों बाक्सिंग रिंग में बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं। हरियाणा तो बाक्सिंग का हब बन गया है। ओलिंपिक से लेकर राष्ट्रमंडल और विश्व चैंपियनशिप में प्रदेश की बेटियों की अच्छी-खासी संख्या प्रदेश की बाक्सर की रहती है। बाक्सिंग में लगातार हो रहे बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए भारतीय सेना ने भी महिला बाक्सिंग टीम तैयार करने की तैयारी शुरू कर दी है।

हरियाणा की जैस्मिन लंबोरिया को सेना की तरफ से सीधे प्रस्ताव आया है, जिसे उसने तुरंत स्वीकार कर लिया। नियुक्ति पत्र मिलने के बाद जैस्मिन के नाम सेना की पहली महिला बाक्सर होने का रिकार्ड हो जाएगा। जैस्मिन को सेना में भर्ती करने की पुष्टि सेना के एक अधिकारी ने भी कर दी है।

ओलिंपियन अमित पंघाल, मनीष कौशिक, हुसामुद्दीन, संजीत सिंगरोह जैसे कई बाक्सर हैं, जो सेना का प्रतिनिधित्व करते हैं। लेकिन सेना में अभी तक महिला बाक्सर की टीम नहीं है। सेना अब अन्य खेलों की भांति बाक्सिंग में भी सीधे नौकरी देगी, जिससे बाक्सिंग की टीम भी खड़ी की जा सके। बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में भिवानी की जैस्मिन लंबोरिया ने 60 किग्रा लाइट वेट में देश के लिए कांस्य पदक जीता है।

सेना की तरफ से जैस्मिन को सीधे हवलदार पद के लिए प्रस्ताव आया, उसे इसे स्वीकार भी कर लिया। बताया जाता है कि नौकरी के लिए सभी प्रक्रियां पूरी हो चुकी है, जिसे कभी भी बुलावा मिल सकता है। फिलहाल जैस्मिन पटियाला में नेशनल कैंप में अभ्यास कर रही हैं। हो सकता है गुजरात में होने वाले नेशनल चैंपियनशिप में जैस्मिन हरियाणा का आखिरी बार प्रतिनिधित्व करेंगी।

बहन जैस्मिन को देख भाई ने भी शुरु की बाक्सिंग

जैस्मिन लंबोरिया भिवानी से हैं। 30 अगस्त 2001 में जैस्मिन का जन्म हुआ। चार भाई-बहनों में जैस्मिन तीसरे नंबर पर हैं। उसके पिता जयबीर होमगार्ड हैं और मां जोगेंद्र कौर गृहिणी है। जैस्मिन ने 2021 में दुबई में आयोजित एशियन बाक्सिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। इसी साल इंटरनेशनल बाक्सिंग टूर्नामेंट में सिल्वर मेडल हासिल किया। हाल ही में बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीता है। जैस्मिन की उपलब्धियों को देखते हुए भाई जयंत ने भी बाक्सिंग में करियर बनाने का निर्णय लिया है।

हरियाणा की महिला बाक्सर को होगा सबसे ज्यादा फायदा : राजनारायण

हरियाणा बाक्सिंग संघ के प्रवक्ता एवं मोटीवेटर ने बताया कि भारतीय सेना ने मिशन ओलिंपिक स्कीम लागू की है। इस स्कीम के तहत सेना के सभी खिलाड़ियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। जिस खेल में टीम नहीं है, उसमें भी टीम बनाई जाएगी। इसी स्कीम के तहत महिला बाक्सर को नियुक्ति दी जा रही है।

जैस्मिन लंबोरिया को हवलदार पद के लिए प्रस्ताव मिला था, जिसने स्वीकार कर लिया। जैस्मिन के अलावा भी कई महिला बाक्सर को प्रस्ताव दिया था, जिसमें कामनवेल्थ गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट नीतू घनघस भी शामिल हैं। सेना में महिला बाक्सर की भर्ती से सबसे ज्यादा हरियाणा की बेटियों को फायदा होगा। चूंकि हरियाणा बाक्सिंग का हब है।

Edited By: Manoj Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट