चित्र : 20

- आइटीआइ में की गई थी परीक्षा की तैयारियां, खाली पड़े रहे परीक्षा हाल, दो सत्रों में सामान्य से भी कम आए परीक्षार्थी जागरण संवाददाता, हिसार :

आईटीआई से जुड़े विद्यार्थियों को स्कालरशिप के लिए वीरवार को जोनल स्तरीय भारत कौशल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। हिसार जिला से इस प्रतियोगी परीक्षा में 780 परीक्षार्थियों ने भाग लेना था लेकिन उपस्थिति संख्या कम रही। परीक्षा के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां की गई और स्टाफ सदस्यों की ड्यूटियां भी लगाई गई। भारत सरकार की कौशल योजना के तहत कौशल प्रतियोगिता आयोजित करवाई जाती है। जोनल स्तर से होते हुए प्रदेश स्तर और फिर राष्ट्रीय स्तर पर भी टापर चुने जाते हैं। इस आधार पर तकनीकी शिक्षा के विद्यार्थियों को स्कालरशिप दी जाती है। ये परीक्षा इस बार तीन वर्ष बाद आयोजित की गई। हालांकि इस प्रतियोगिता के लिए हिसार जिला के विभिन्न आईटीआई से संबंधित 780 विद्यार्थियों ने आवेदन किया था। इस आधार पर परीक्षा का शैड्यूल तैयार किया गया। शहर के तोशाम रोड स्थित आईटीआई कैंपस में परीक्षा केंद्र बनाया गया। यहां दो सत्रों में परीक्षा आयोजित करवाने के लिए तैयार किया गया। ------------- उपस्थिति संख्या रही कम, खाली पड़े रहे परीक्षा हाल आईटीआई में गठित किए गए परीक्षा हाल में सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षा आयोजित हुई। सुबह के सत्र में 380 और सायंकालीन सत्र में 400 परीक्षार्थियों के बैठने का शैड्यूल तैयार हुआ। लेकिन दोनों सत्रों में केवल 30-30 परीक्षार्थियों ने ही भाग लिया। इसके लिए बाकायदा 60 अध्यापकों की ड्यूटी भी लगाई गई। लेकिन वीरवार को आई बरसात और अन्य कारणों से विद्यार्थियों की उपस्थिति संख्या कम रही। सुबह 11 बजे परीक्षा का समय निर्धारित किया गया था लेकिन विद्यार्थियों की उपस्थिति संख्या को देखते हुए इसे आधा घंटा देरी से किया गया ताकि कोई विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित ना रह जाए। --------------- शांतिपूर्वक हो गई है परीक्षा : प्रिसिपल भारत कौशल परीक्षा वीरवार को आयोजित की गई है। दो सत्रों में परीक्षा ली गई। लेकिन विद्यार्थियों की उपस्थिति संख्या कम रही। परीक्षा हाल में सीसीटीवी कैमरा का भी प्रबंध किया गया। इसके लिए अध्यापकों की ड्यूटियां भी लगाई गई है। - प्रेम किरण, प्रिसिपल, आईटीआई, हिसार।

Edited By: Jagran