हिसार (वि) : कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता और राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा शुक्रवार को हिसार के कई सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान मय्यड़ टोल धरने पर पहुंचकर उन्होंने आंदोलनरत किसानों से मुलाकात की और उनका हाल-चाल पूछा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की कमजोर भाजपा सरकार की कमजोरी की वजह से कई मेगा परियोजनाएं हरियाणा से उठाकर दूसरे प्रदेशों में भेज दी गयी। दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि अगर महम में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनता तो हिसार, भिवानी, रोहतक के लाखों युवाओं को रोजगार मिलता। क्योंकि इस कार्य के लिये जो जमीन चिन्हित की गयी थी वो इन तीनों जिलों के बीच में पड़ती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार में बैठे लोगों के उदासीन रवैये से ऐसा लगता है जैसे विकास इनके एजेंडे में कहीं नहीं है और ये सिर्फ सत्ता सुख भोगने के लिये ही बैठे हैं। सत्ता सुख भोगना ही इनका एकमात्र लक्ष्य है। महम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के जेवर चले जाने का दर्द जाहिर करते हुए दीपेंद्र

हुड्डा ने कहा कि हिसार भिवानी और रोहतक की सीमा पर 20 से 25 हजार करोड़ की लागत से अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा उनकी सरकार के समय मंजूर कराया गया था, जिसके बनने पर पूरे इलाके के लाखों युवाओं के लिए रोजगार के नये साधनों का सृजन होता साथ ही लाखों करोड़ रुपये का निवेश आता। लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार इसे उठाकर यूपी के जेवर में ले गयी। प्रदेश की भाजपा सरकार चुपचाप बैठी विज्ञापन ही छापती रही। उन्होंने आगे कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है, तब से सरकारी विभागों का निजीकरण किया जा रहा है।

Edited By: Jagran