हिसार, जेएनएन। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के धरने का समर्थन करते हुए उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने मोदी की डिक्टेटरशिप के खिलाफ आवाज उठाई है। उन्होंने धरना दिया और फिर सुप्रीम कोर्ट में भी उनकी जीत हुई। इससे वेस्ट बंगाल के लोगों में खुशी है। इसलिए मैं उन्हें बधाई देता हूं। दिल्ली के सीएम केजरीवाल जिले के गांव खरड़ अलीपुर में स्वामी दिप्तानंद जी अवधूत आश्रम में आयोजित धार्मिक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे थे।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने हरियाणा में गठबंधन को लेकर कहा कि देश को बचाने के लिए अच्छे लोगों को साथ आना चाहिए। मोदी की डिक्टेटरशिप को खत्म किया जा सके। स्कूलों को लेकर केजरीवाल ने फिर सरकार के रवैये को कोसते हुए कहा कि मनोहरलाल की सरकार में जिन स्कूलों ने मनमानी करके फीस बढ़ाई है, हमारी सरकार आने पर उसे वापस करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम निजी स्कूलों के खिलाफ कतई नहीं हैं, हम उनकी मनमानी के खिलाफ हैं। निजी स्कूल डेवलपमेंट चार्ज, पिकनिक चार्ज, लाइब्रेरी आदि विभिन्न चार्जेज के नाम पर पैसे लूटते हैं। हमने दिल्ली में फीस नहीं बढ़ाने दी, बल्कि शीला दीक्षित के समय में जिन्होंने फीस बढ़ाई थी, उनकी फीस वापस करवाई गई। ऐसे ही हरियाणा में भी स्कूलों की फीस नहीं बढ़ने देंगे।

सत्ता से पैसा और पैसे से सत्ता के माहौल को साफ करने आए हैं
कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं यहां महराज की समाधि पर मथा टेकने आया हूं। गरीबों के बच्चों को पढ़ाना और जनता की सेवा करना ही उनका मकसद है। हम एक तरह से धर्म के हिसाब से ही दिल्ली सरकार चला रहे हैं। राजनीति का महौल सत्ता से पैसा और पैसे से सत्ता हासिल करने का है। हम ऐसी राजनीति को साफ करने आए हैं।

उन्होंने दिल्ली के स्कूलों और अस्पतालों की तारीफ करते हुए लोगों को वहां आने का निमंत्रण दिया। उन्होंने हरियाणा में स्कूलों और अस्पतालों के हालात पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर सरकार का काम क्या है। जनता के टैक्स के पैसे से उन्हीं का काम करवाना है। यह काम करने से उन टैक्स देने वालों को ही पुण्य मिलता है। केजरीवाल ने कहा कि संगत में आए लोगों की मनोकामना पूरी हो और सब अपने देश और समाज की भलाई के लिए काम करें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस