हिसार, जेएनएन। अर्बन एस्टेट निवासी जजपा कार्यकर्ता एक युवक की कोरोना की रिपोर्ट के साथ उसी के दोस्त ने छेडख़ानी की थी। एसपी द्वारा की गई जांच में सामने आया कि अर्बन एस्टेट निवासी युवक के गुरुग्राम निवासी एक दोस्त ने मजाक करने के लिए नेगेटिव रिपोर्ट को एडिट करके पॉजिटिव रिपोर्ट बना दिया था। इसके बाद इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था।

स्वास्थ्य विभाग को पॉजिटिव रिपोर्ट मिली तो अर्बन एस्टेट निवासी इस युवक को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करने के लिए टीम भेजी गई थी। जिसके बाद युवक ने टीम को अपनी नेगेटिव रिपोर्ट दिखाते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम से बहस भी की थी। काफी ना-नुकर के बाद युवक को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करवाकर उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। वहीं अग्रोहा मेडिकल की लैब से भी इमरजेंसी सैंपल करवाया गया था। इन दोनों सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद युवक को उसके घर के बाहर पोस्टर लगाकर क्वारंटाइन किया गया था।

सीएमओ ने मामले में डीसी को दी थी शिकायत

एक ही युवक की गुरुग्राम की प्राइवेट लैब की दो रिपोर्ट सामने आने के बाद सीएमओ ने मामले की जांच करने के लिए डीसी को शिकायत दी थी। वहीं डीसी ने मामले की जांच करने के लिए एसपी को लिखा था। मामले में सिविल लाइन थाना पुलिस ने जांच की है।

इसी मामले में डा. रमेश पूनिया से हुआ था विवाद

जजपा कार्यकर्ता को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करवाने और घर पर क्वारंटाइन करने के मामले में स्वास्थ्य विभाग से जीव वैज्ञानिक डा. रमेश पूनिया से भी जजपा कार्यकर्ता का विवाद हुआ था। डा. रमेश पूनिया ने इस युवक पर देख लेने की धमकी देने का आरोप लगाकर पुलिस में शिकायत दी थी। वहीं इसके अगले ही दिन डा. रमेश पूनिया को उनके कोविड-19 के कार्यभार से हटा दिया गया था। मामले की जानकारी स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के पास पहुंची तो उन्होंने भी मामले में जांच के आदेश दिए थे। साथ ही कई नेता डा. रमेश पूनिया के समर्थन में आए थे। जिन्होंने डा. रमेश पूनिया को कार्यभार से हटाने की ङ्क्षनदा की गई थी। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा मामले में संज्ञान के बाद तीसरे दिन डा. रमेश पूनिया को उनका कार्यभार वापस सौंपा गया था।

-----उपरोक्त मामले में जांच पूरी हो गई है। इस मामले में सामने आया कि अर्बन एस्टेट निवासी युवक की कोरोना रिपोर्ट को इसी युवक के गुरुग्राम निवासी दोस्त ने एडिट करके पॉजिटिव बनाकर मजाक किया था। मामले की रिपोर्ट प्रशासन को सौंपी गई है।

जसवंत सिंह, एसएचओ, सिविल लाइन थाना

----अर्बन एस्टेट निवासी युवक की जांच बारे उपायुक्त से पत्र मिला था। जिसके बाद मामले अर्बन एस्टेट निवासी युवक की कोरेाना की दो रिपोर्ट वायरल होने के मामले की जांच पूरी हो गई है। जांच पूरी करके रिपोर्ट प्रशासन को सौंप दी गई है।

गंगाराम पूनिया, एसपी, हिसार।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस