हिसार/अग्रोहा, जेएनएन। अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस संक्रमित मरीजों की मौत का सिलसिला लगातार जारी है। शुक्रवार को ब्लैक फंगस के संक्रमण के चलते पांच मरीजों की मौत हो गई। मृतकों में दो मरीज हिसार से, एक- एक मरीज हांसी, फतेहाबाद व जिला भिवानी से थे।

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज के मीडिया प्रभारी डॉ. अनूप ग्रोवर ने बताया कि शुक्रवार को ब्लैक फंगस के संक्रमण से ठीक होने के बाद तीन मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया गया। वहीं ब्लैक फंगस के 9 मरीजों को वार्ड में उपचार के लिए दाखिल किया गया। फिलहाल मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के 77 मरीजों का उपचार चल रहा है। डा. ग्रोवर ने बताया कि उपचाराधीन मरीजों में ब्लैक फंगस का संक्रमण अधिक फैलने से पांच मरीजों की सर्जरी की गई जिनमें दो मरीजों की इएनटी व एक मरीज की आंख व दो अन्य मरीजों के जबड़े की सर्जरी कर फंगस को बाहर निकाला गया।

सात मरीजों की आंखों तक पहुंचा इंफेक्शन

इसके साथ जिन मरीजों के आंखों तक ब्लैक फंगस का संक्रमण पहुंच चुका था, फंगस को आगे बढ़ने से रोकने के लिए सात मरीजों को एंटी फंगल इंजेक्शन दिए गए। डा. ग्रोवर ने बताया कि अग्रोहा मेडिकल कालेज में अभी तक कुल 236 मरीज ब्लैक फंगस के संक्रमण के चलते उपचार के लिए आ चुके है जिनमें से 59 मरीजों की मौत हो चुकी है।

दवाइयों की भेजी डिमांड

डा. ग्रोवर ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा भेजे गए एम्फोटेरोसिन इंजेक्शन सभी मरीजों को लगा दिए गए हैं और इंजेक्शन की मांग के लिए मेडिकल प्रशासन लगातार स्वास्थ्य विभाग से संपर्क कर रहा है।

112 मरीज उपचाराधीन

शुक्रवार तक अग्रोहा मेडिकल में कोरोना संक्रमण व ब्लैक फंगस के कुल 112 मरीज उपचाराधीन रहे। जिनमें से 77 ब्लैक फंगस व 35 मरीज कोरोना संक्रमण के उपचाराधीन है। मेडिकल के कोरोना अस्पताल से काेरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद चार मरीजों को छुट्टी देकर घर भेज दिया गया वहीं चार मरीजों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Umesh Kdhyani