जागरण संवाददाता, हिसार। मौसम परिवर्तन के कारण तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। आगे 24 घंटे तक यही स्थिति रहेगी, इसके बाद यानि 18 जुलाई की रात्रि को मौसम में फिर से बदलाव होगा। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से हरियाणा में मानसूनी हवाओं को बल मिलेगा। जिससे कहीं-कहीं तेज बारिश होने के आसार हैं।

मानसून की बारिश ने गर्मी को काफी कम किया था मगर शुक्रवार को मौसम परिवर्तन होने से एक बार फिर तापमान में उछाल दर्ज किया गया है। शुक्रवार को 24 घंटे बाद यह तापमान बढ़कर 38.1 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। वहीं न्यूनतम तापमान देखें तो 26.1 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। दूसरों शहरों में भी इसी प्रकार का तापमान देखने काे मिल रहा है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो राज्य में 18 जुलाई की रात के बाद फिर से मौसम करवट लेगा। तब बारिश होने की संभावना रहेगी जो 21 जुलाई तक होने की संभावना है। इसके साथ ही कृषि विज्ञानियाें ने मध्यम बारिश की संभावना को देखते हुए कपास की बिजाई रोकने की सलाह दी है।

18 फीसद कम हुई है बारिश

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ. मदन खिचड़ ने बताया कि मानसून टर्फ उत्तर की तरफ आने, बंगाल की तरफ से नमी वाली पुरवाई हवा, अरब सागर पर बने एक कम दबाव का क्षेत्र से दक्षिण पाश्चिमी मानसूनी हवा हरियाणा में 18 जुलाई से राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में फिर से सक्रिय होने की संभावना है। इससे राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में 18 जुलाई रात्रि से 21 जुलाई के बीच हवा व गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कुछ एक स्थानों पर तेज बारिश भी होने की संभावना है। अब तक हरियाणा राज्य में भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार 1 जून से 16 जुलाई तक 104.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है जो सामान्य बारिश (126.4 मिलीमीटर) से 18 फीसद कम है ।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Umesh Kdhyani