संवाद सहयोगी, हांसी : कोरोना पॉजीटिव केसों में कमी लाने व सब्जी मंडी सोशल डिस्टेंसिग के नियमों की पालना के लिए उमरा गेट स्थित सब्जी मंडी को लघु सचिवालय के समीप 12 एकड़ में बनाई गई नई सब्जी मंडी में बुधवार को शिफ्ट कर दिया गया। बुधवार सुबह नई सब्जी मंडी में पुरानी सब्जी मंडी के मुकाबले भीड़ कम थी लेकिन सामाजिक दूरी के नियमों की सरेआम अवहेलना की जा रही थी। नई सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंसिग के नियमों की पालना व व्यवस्था का जायजा लेने के लिये प्रात: 4 बजे ही हांसी के एसडीएम डा. जितेंद्र अहलावत सब्जी मंडी पहुंच गए। सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंसिग के नियमों की धज्जियां उड़ते देख एसडीएम ने मौके पर ही पुलिस बल को बुला लिया। पुलिस बल के साथ सब्जी मंडी पहुंचे सब इंस्पेक्टर सुरेश कुमार ने व्यापारियों, आढ़तियों व ग्राहकों से सोशल डिस्टेंसिग मेनटेन करवाया व व्यवस्था को ठीक किया। एसडीएम डा. जितेंद्र अहलावत ने बताया कि बुधवार को नई सब्जी मंडी में शिफ्ट होने के बाद कुछ खामियां नजर आई है। मौके पर पुलिस को बुलाकर व्यवस्था को ठीक किया गया है। एक-दो दिन में सब्जी मंडी की व्यवस्था ठीक हो जाएगी तो सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का यहां पर अच्छी प्रकार से पालन होगा।

माशाखोरों ने की हड़ताल

वहीं, सब्जी मंडी शिफ्ट करने को लेकर मंडी के आढ़तियों व माशाखोर आमने-सामने नजर आए। मंगलवार देर रात्रि को सब्जी मंडी में जगह को लेकर आढ़तियों व माशाखोर के बीच काफी लंबी वार्ता हुई। मगर वार्ता सिरे नहीं चढ़ी। माशाखोर चाहते है किउन्हें शैड के नीचे जगह दी जाएं क्योंकि शैड पर हक माशाखोरों का होता है। लेकिन मंडी के आढ़तियों ने उस पर भी कब्जा कर लिया। बुधवार को नई सब्जी मंडी में सब्जी की खरीद शुरू हो चुकी है लेकिन माशाखोर हड़ताल पर चले गये। माशाखोरों ने मांग की है कि उन्हें शैड के नीचे जगह दी जाये अन्यथा वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

जल्द होगा समाधान

आढ़तियों व माशाखोरों के बीच लगातार वार्ता चल रही है और उनकी समस्या का समाधान जल्द कर लिया जाएगा। आढ़ती व माशाखोरों दोनों को जगह दिलवाने का प्रयास किया जाएगा। रमेश भुटानी, पूर्व प्रधान सब्जी मंडी।