जागरण संवाददाता, हिसार : गांव ढंढूर व आसपास के निवासियों के लिए राहत भरी खबर है। पिछले एक दशक से अधिक समय से ढंढूर के पास नगर निगम के डंपिग स्टेशन के कचरे में आग लगने से उठने वाले धुएं के कारण हो रही परेशानी से जनता को राहत मिलने की उम्मीद है। सोमवार को नगर निगम मेयर गौतम सरदाना और निगम कमिश्नर अशोक कुमार गर्ग ने डंपिग स्टेशन पर पड़े कचरे के निस्तारण के लिए लगाए प्लांट की शुरुआत की। पहले दिन मशीनें चली और 100 टन से अधिक कचरे का निस्तारण किया गया। कंपनी को छह माह में कचरे का निस्तारण करना है। इस दौरान एक्सईएन हरिकृष्ण शर्मा, एमई अमित बेरवाल, जेई प्रवीण शर्मा, एजेंसी डायरेक्टर चिराग, सीएसआइ देवेंद्र बिश्नोई मौजूद रहे।

------------------------एक लाख 30 हजार टन कचरे का छह माह में करना है निस्तारण

निगम में एकजुट किए गए डाटा के अनुसार डंपिग स्टेशन पर एक लाख 30 हजार टन कचरा था। लेकिन बात वर्तमान स्थिति कि करें तो नगर निगम कमिश्नर अशोक कुमार गर्ग के अनुसार डेढ़ लाख टन से अधिक कचरा डंपिग स्टेशन पर है। सोमवार को एजेंसी ने कचरे का निस्तारण करने के लिए मशीन चलाकर प्लांट की शुरुआत की। कंपनी को छह माह में कचरे का निस्तारण करना है।

--------------------

तीन अलग अलग प्वाइंटों में कचरे का होगा निस्तारण

- कचरे से प्लास्टिक और कपड़ा अलग-अलग किया जाएगा

- कचरे में से मिट्टी अलग की जाएगी।

- कचरे में से पत्थर व ठोस कण अलग किए जाएंगे।

------------------------

गुरुग्राम की आइएनडी सेनिटेशन प्राइवेट लिमिटेड को कचरा निस्तारण का टेंडर दिया गया है। डेढ़ लाख टन से अधिक कचरा है जिसका कंपनी को निस्तारण करना है। शहरवासी गीले व सूखे कचरे को अपने घर से ही अलग अलग करे ताकि कचरे का सहीं से निस्तारण किया जा सकें। शहर सभी के प्रयासों से स्वच्छ व सुंदर बन सकेगा।

-अशोक कुमार गर्ग, कमिश्नर, नगर निगम हिसार।

---------------------------

सिरसा रोड पर ढंढूर के पास स्थित डंपिग साइट से कूड़े के निस्तारण का कार्य आज से शुरू हो गया है। कचरे के निस्तारण से ढंढूर व आसपास के ग्रामीणों को लाभ होगा। भविष्य में प्रयास रहेंगे कि शहर में इस प्रकार के कूड़े के पहाड़ दोबारा न बने। इसको लेकर शहरवासियों को जागरूक होना होगा। गीला व सूखा कूड़ा अलग अलग करना होगा।

- गौतम सरदाना, मेयर, हिसार।

Edited By: Jagran