सिरसा, जेएनएन। मोबाइल का व्यवसाय करने वाले युवक को हिसार रोड निवासी मां-बेटे ने फ्यूचर मेकर कंपनी में निवेश करने का झांसा दिया और ख्वाब दिखाए कि हर महीने उसके खाते में साढ़े पांच लाख रुपये आएंगे। दुकान पर काम करने वाले एकाउटेंट, आरोपित मां बेटे तथा फ्यूचर मेकर कंपनी के सीएमडी व एमडी की बातों में आकर युवक ने कंपनी में 32 लाख 32 हजार 500 रुपये का निवेश कर दिया परंतु उसके खाते में रुपये नहीं आए।

आरोप है कि इसके बाद उसने अपने रुपये वापस लेने का तकाजा किया तो उसके पिता व उसके साथ मारपीट की गई। इस मामले में पीडि़त युवक ने जिला उपायुक्त को शिकायत दी हुई थी, जिस पर कार्रवाई करते हुए फ्यूचर मेकर कंपनी के सीएमडी राधेश्याम, एमडी बंसी लाल, हिसार रोड निवासी अक्षित अरोड़ा, उसकी मां आशारानी तथा अकाउंटेंट प्रवीन सेतिया के खिलाफ धोखाधड़ी करने व विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में गांव कंगनपुर निवासी कर्मजीत ने बताया कि उसका शिव चौक पर मोबाइल का कारोबार है। अकाउंटेंट प्रवीण सेतिया से वह अपनी फर्म का हिसाब किताब करवाता था। प्रवीण के दोस्त अक्षित अरोड़ा व उसकी मां आशा अक्सर उसकी दुकान पर आते थे। फ्यूचर मेकर कंपनी में निवेश करने के लिए कहते थे। उनके झांसे में आकर उसने 1 लाख 92500 रुपये प्रवीन के भाई नवीन को फ्यूचर मेकर कंपनी में लगाने के लिए दिये। कर्मजीत ने बताया कि इसके बदले में उसके तथा उसकी पत्नी राजङ्क्षवद्र कौर के बैंक खाते में पांच बार में 67,500 रुपये आए।

इसके बाद अक्षित व प्रवीण ने उसे कंपनी में और रुपये निवेश करने का झांसा दिया। जिसके बाद 8 अगस्त 2018 को उसने 32 लाख 32,500 रुपये कंपनी के खाते में जमा करवाए। अक्षित व प्रवीन ने उसे बताया था कि पहले 16 लाख 15,462 रुपये की किस्त आएगी। उसके बाद 24 महीनों तक हर महीने साढ़े पांच लाख रुपये आएंगे परंतु उसके खाते में कोई राशि नहीं आई। कर्मजीत ने बताया कि उसने अपनी रकम के लिए अपने बार कहा जिस पर उन्होंने वादा किया कि चिंता न करो आपकी राशि कहीं नहीं जाती।

इसके बाद उसे पता चला कि तेलंगाना में कंपनी के खिलाफ केस हो गया है और दफ्तर भी सील कर दिया गया है। पूछने पर अक्षित, उसकी मां आशा व प्रवीन ने उसे आश्वासन दिया कि जल्द ही दफ्तर खुल जाएगा।उसने कई बार उनसे अपने रुपयों के लिए अनेक बार तकाजा किया। बीती 5 अप्रैल 2019 को प्रवीन ने उसे अपने घर बुलाया, जहां अक्षित व सीताराम भी था। आरोप है कि उक्त लोगों ने वहां उसके साथ मारपीट की। इसी दौरान जब उसने अपने पिता को बुलाया तो उक्त लोगों ने उसके पिता से भी मारपीट की।

आरोपितों ने उसे जान से मारने की धमकी दी। इस मामले में पुलिस ने 7 अप्रैल 2019 को आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया परंतु कोई कार्रवाई नहीं की। इस मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को देने के बाद कंपनी के सीएमडी राधेश्याम व एमडी बंसी लाल सहित अन्य आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी करने संबंधित शिकायत दी। शहर थाना पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए आरोपितों के खिलाफ अभियोग दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

 

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस