जागरण संवाददाता, फतेहाबाद। एंटी नारकोटिक्स टीम ने गांव बड़ोपल के पास नाकेबंदी के दौरान कार से 263 ग्राम हेरोइन बरामद की है। मौके से पुलिस ने सिरसा और गांव बड़ोपल निवासी युवकों को पकड़ा हैं। दिल्ली नंबर की कार से हेरोइन सप्लाई की जा रही थी दोनों आरोपी तस्करों के खिलाफ सदर थाना में एनडीपीएस आठ के तहत मामला दर्ज किया गया है।

ये है पूरा मामला

मामले के मुताबिक एंटी नारकोटिक्स की टीम गांव बड़ोपल में चिंदड रोड पर नाकेबंदी कर वाहनों की जांच कर रही थी। इस दौरान गांव चिंदड की तरफ से एक दिल्ली नंबर की कार आती दिखी। कार चालक ने टीम को देखकर गाड़ी को वापस मोड़ने का प्रयास किया तो एंटी नारकोटिक्स की टीम ने पीछा करके गाड़ी को रुकवाया। गाड़ी गाड़ी सवार दोनों युवकों की तलाशी ली लेकिन उनके पास से कुछ बरामद नहीं हुआ। इसके बाद टीम ने कार के डैशबोर्ड की तलाशी ली तो उसमें से 263 ग्राम हेरोइन बरामद हुई पकड़े गए युवकों की पहचान सिरसा के शाहपुर बेगू निवासी विशाल उर्फ लाडी और गांव बड़ोपल निवासी सुनील उर्फ शीलू के रूप में हुई है।

1 ग्राम 2 हजार रुपये तक बेचते है तस्कर

नशा तस्कर 1 ग्राम हेरोइन को 2 हजार रुपये तक बेचते है। इसके लिए विशेष पैकिंज करते है। बड़ा माल आरोपित दिल्ली से लेकर आते है। अक्सर पुलिस 10 से 20 ग्राम हेरोइन के मामले पकड़ती है। लंबे समय बात 263 ग्राम हेरोइन पकड़ी है।

मुख्य सप्लायर नहीं आते गिरफ्त में

पुलिस नशा तस्करों को पकड़ने के लिए अभियान चलाती है। लेकिन इस अभियान में हेरोइन के मुख्य तस्कर गिरफ्त से बाहर ही रहते है। अब जो दो आरोपित पकड़े गए है। इनसे गहनता से जांच हो तो नशा तस्करी का पूरा चैन सिस्टम पुलिस को मिल सकता है। लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ कि पुलिस पूरे मामले की जांच करते हुए मुख्य आरोपित तक पहुंची हो।

263 ग्राम पकड़ी हेरोइन : डीएसपी

डीएसपी सुभाष चंद्र ने बताया कि एंटी नारकोटिक्स की टीम ने बेहतरीन कार्य करते हुए 263 ग्राम हेरोइन पकड़ी है। आरोपितों को कोर्ट से रिमांड पर लेकर बुझताछ की जाएगी। 

Edited By: Rajesh Kumar