जागरण संवाददाता, रोहतक : कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार की ओर से मशीनीकरण योजना चलाई जा रही हैं। मशीनीकरण योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि किसान अपना फसल से संबंधित कार्य जल्द से जल्द संपन्न कर सकें। मशीनीकरण योजना के तहत किसानों काे अनुदान मिलेगा। इस योजना के तहत राज्य सरकार की ओर से मशीनों पर सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत जबकि एससी, एसटी व महिला वर्ग के किसानों को 50 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जा रहा है।

अनुदान पाने के लिए संबंधित किसान को पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना जरूरी किया गया है। योजना के विषय में विस्तार से जानकारी देते हुए कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बीटी काटन सीड ड्रिल पर सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत या 12 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जाता है।

इसी प्रकार एससी, एसटी व महिला वर्ग के किसानों को 50 प्रतिशत या 15 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जा रहा है। इसी प्रकार से ट्रैक्टर माउंटेड आपरेटेड स्प्रे पंप पर सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत या आठ हजार रुपये तक का अनुदान दिया जा रहा है जबकि एससी, एसटी व महिला वर्ग के किसानों को 50 प्रतिशत या 10 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जा रहा है।

योजना के तहत ट्रैक्टर माउंटेड रोटरी विडर पर सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत या 60 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जाता है, जबकि एससी, एसटी व महिला वर्ग किसानों को 50 प्रतिशत या 75 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जा रहा है। इसी प्रकार से पावर टिलर पर सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत या 70 हजार रुपये तक का अनुदान दिया जा रहा है जबकि एससी, एसटी व महिला वर्ग के किसानों को 50 प्रतिशत या 85 हजार रुपये तक का अनुदान योजना के तहत दिया जाता है।

आवेदन करने की अंतिम तिथि आज

इनके अलावा अन्य उपकरण जैसे मक्का प्लांटर, मक्का थ्रेसर, न्यूमेटिक प्लांटर पर भी अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग रोहतक के सहायक कृषि अभियंता के कार्यालय में संपर्क स्थापित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि योजना के तहत आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 मई  निर्धारित की गई है।

---

किसानों की सुविधा के लिए सरकार की ओर से अनेक योजनाएं चलाई जा रही है। मशीनीकरण योजना भी उन्हीं में से एक है। जिसके तहत किसानों को अनुदान मिलेगा। किसानों को इस योजना का लाभ उठाने के लिए शुक्रवार तक आवेदन करना जरूरी है।

- कैप्टन मनोज कुमार, उपायुक्त, रोहतक ।

Edited By: Manoj Kumar