जागरण संवाददाता, सिरसा। चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद जिन मतदाताओं की मृत्यु हो गई है उनके नाम पर कोई दूसरा वोट नहीं डाल पाएगा। मृत लोगों की सूची पोलिंग स्टाफ को उपलब्ध करवाए जाने के लिए बूथ स्तर पर मृत लोगों का डाटा एकत्रित किया जाएगा। अकसर ऐसे आरोप लगते हैं कि मृत व्यक्ति का वोट दूसरे व्यक्ति ने डाल दिया लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो पाएगा।

एक तो मतदान केंद्रों की वीडियोग्राफी करवाई जाएगी दूसरा पोलिंग स्टाफ को मृत लोगों की सूची वोटर नंबर के साथ उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रत्येक मतदान केंद्र पर बूथ लेवल आफिसर की तैनाती है जो वोट बनाने, काटने की प्रक्रिया को पूर्व में करवाता है और चुनाव के दिन मतदान केंद्र पर ही उपलब्ध रहता है। उसके पास प्रत्येक मतदाता का डाटा रहता है और वह उन लोगों की सूची जुटाएगा जो मतदाता सूची के प्रकाशन के बाद दिवंगत हुए हैं।

हथियार जमा नहीं कराए तो अब शस्त्र लाइसेंस करने की कार्रवाई, आज जारी होंगे नोटिस

जिला निर्वाचन अधिकारी ने ऐलनाबाद उपुचनाव को लेकर जिले भर में हथियार जमा करवाए जाने के निर्देश जारी किए हुए हैं। जिसके तहत 21 अक्टूबर तक शस्त्र लाइसेंस धारकों को हथियार जमा करवाने हैं। अभी भी जिले में अनेक शस्त्रधारक हैं जिन्होंने हथियार जमा नहीं करवाए हैं और प्रशासन की सख्ती के बावजूद वे हथियार जमा करवाए जाने के मामले में लापरवाही बरत रहे हैं इसीलिए प्रशासन ने हथियार न जमा करवाने वाले लाइसेंस धारकों के लाइसेंस कैंसिल करने की प्रक्रिया शुरू की है। जिले में करीबन 13 हजार शस्त्र लाइसेंस हैं।

सिरसा एसपी डा अर्पित जैन के अनुसार

चुनाव आयोग के कड़े निर्देश हैं कि शस्त्र लाइसेंस जमा करवाने हैं। जिला प्रशासन ने लाइसेंस जमा करवाने के लिए तिथि निर्धारित की थी। जिन्होंने शस्त्र लाइसेंस जमा नहीं करवाए हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को नोटिस जारी करेंगे और लाइसेंस कैंसिल करने की आगामी प्रक्रिया शुरू करवा दी है।

Edited By: Naveen Dalal