जागरण संवाददाता, हिसार : सड़क पर रात गुजारने वाले बेघर और गरीब मुसाफिरों के लिए नगर निगम ने रैन बसेरा में प्रबंध करवा दिए हैं। दैनिक जागरण में रैन बसेरा की व्यवस्थाओं को लेकर खबर छपने के बाद नगर निगम अधिकारी ने मौके का निरीक्षण किया। उन्होंने वीरवार को जगजीवन नगर में स्थित नगर निगम के रैन बसेरा में 10 बिस्तर और 12 लाइटों का प्रबंध करवाया, ताकि ठंड में जरूरतमंद मुसाफिर बस स्टैंड या सड़क पर रात गुजारने की बजाय रैन बसेरा में ठहर सकें।

दैनिक जागरण ने रात का रिपोर्टर कॉलम के तहत रात्रि को नगर निगम के रैन बसेरे का भ्रमण किया, जिसमें सामने आया कि वहां पर अंधेरा है। रैन बसेरो में लाइट का प्रबंध नहीं है। साथ ही वहां पर बिस्तर पर नहीं लगे हुए थे। उधर रात्रि को बस स्टैंड पर जाकर देखा तो कई मुसाफिर बस स्टैंड पर खुले में रात गुजारने को मजबूर थे। ऐसे में रैन बसेरे की व्यवस्थाओं को लेकर वीरवार को दैनिक जागरण ने खबर प्रकाशित की। इसके बाद निगम प्रशासन हरकत में आया। करीब 50 लाख रुपये की लागत से बने रैन बसेरा में दोपहर से पहले ही नगर निगम की टीम ने रैन बसेरा में बिस्तर व लाइट का प्रबंध करवाया।

----------------

शिव धर्मशाला में भी लोगों के ठहरने का है प्रबंध

सर्दी के मौसम में ठंड बढ़ रही है। ऐसे में अब निगम और जिला प्रशासन दोनों ही बेघर व बेसहारा लोगों के रात्रि में ठहराव के प्रबंध के लिए प्रयासरत है। उसी कड़ी में जहां नगर निगम ने जगजीवन नगर और रेलवे स्टेशन के नजदीक बनी शिव धर्मशाला में रेडक्रॉस की तरफ से रैन बसेरा बनाया हुआ है। जहां पर लोगों के ठहरने के प्रबंध किए हुए हैं। शिव धर्मशाला लोगों को रास आ रही है। बुधवार रात्रि को वहां पर करीब 11 लोग ठहरे हुए थे। जबकि नगर निगम का रैन बसेरा मुसाफिरों की पसंद नहीं था। वहां पर अव्यवस्थाओं के कारण एक भी व्यक्ति नहीं पहुंचा था।

----------------------

रैन बसेरा में यात्रियों के ठहराव के लिए प्रबंध किए हुए हैं। ठंड में खुले में सोने की बजाय लोग इनमें ठहर सकते हैं।

- डा. प्रदीप हुड्डा, डीएमसी, नगर निगम हिसार।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस