अग्रोहा, जेएनएन। अग्रोहा मेडिकल के कोरोना अस्पताल में 25 अप्रैल से दाखिल दड़ौली निवासी कोरोना पॉजिटिव युवक सैंपल के कभी पॉजिटिव तो कभी नेगेटिव के फेर में उलझा है। युवक ने शुक्रवार को हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को पत्र लिखकर अपनी परेशानियों से अवगत करवाया है।

युवक ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखी पत्र में बताया कि उसकी तीन रिपोर्ट पॉजिटिव आईं। इसके बाद चौथी और पांचवीं रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद भी चिकित्सकों द्वारा उसे रिलीव नहीं किया गया। इसके बाद उसकी तीन और रिपोर्ट क्रमश: छठी, 7वीं और 8वीं एक बार फिर पॉजिटिव आईं जो जांच प्रक्रिया पर सवाल उठाती है।

युवक ने लिखा कि उसके शरीर में कोरोना संबंधी किसी प्रकार का कोई लक्षण नहीं है और ना ही उसे किसी प्रकार कि कोई खांसी,जुकाम या बुखार या कोई अन्य बीमारी है। वह मानसिक रूप से परेशान हो चुका है। उसने स्वास्थ्य मंत्री को इस मामले में दखल देकर उसकी सही जांच करवाने की गुहार लगाई है।

एक दिन पहले भी युवक अपने सैंपल हिसार से बाहर जांच करवाने की प्रशासन से गुहार लगा चुका है। युवक का कहना है कि उसके सैंपल हिसार से बाहर यदि चेक करवाए जाएं तो रिपोर्ट में अधिक पारदर्शिता हो सकेगी।

गौरतलब है कि 23 अप्रैल को युवक गाजियाबाद से अपने गांव दड़ौली आया था। गांव में आने से पहले उसने हिसार के नागरिक अस्पताल में जांच करवाई थी।

जिसके बाद 25 अप्रैल को विभाग ने दोबारा सैंपल लिया तो शाम को कोरोना पॉजिटिव मिलने पर युवक को अग्रोहा मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया था। जिसकी अभी तक कुल 8 कोरोना सैंपल रिपोर्ट आ चुकी हैं, जिनमें 6 पॉजीटिव और 2 नेगेटिव रिर्पोट आ चुकी है।

अब युवक के गांव को कंटेनमेंट जाेन और आसपास के गांवों को बफर जोन से भी बाहर कर दिया है। मगर युवक अभी अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में ही भर्ती है। एक महीने से भी ज्‍यादा का वक्‍त गुजर जाने के कारण युवक खुद को मानसिक परेशान बता रहा है।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस