जागरण संवाददाता, हिसार। कोरोना की तीसरी लहर में अब तक 1663 संक्रमित मिल चुके है। इनमें से 744 लोग कोरोना को हरा चुके है। इनमें से 710 यानि कुल संक्रमित के 42.69 होम आइसोलेशन में थे। देखने में आया है कि इन लोगों में कोरोना के हल्के लक्षण मिले है। जिस कारण इन्हें होम क्वारंटाइन किया गया था। सिर्फ कुछ ही मरीजों को अस्पतालों में दाखिल करने की जरुरत पड़ी है। विभाग की तरफ से कोविड केयर सेंटरों में मरीजों का उपचार शुरु कर दिया है।

वहां पर डाक्टरों सहित अन्य स्टाफ की डयूटी लगा दी गई है। कोरोना से अब तक हिसार में दो मौत भी हो चुकी है। इनमें एक 28 साल की एपिडेमियोलॉजी डा. शिल्पी और एक 38 वर्षीय महिला की मौत हो चुकी है। देखने में आया है कि दोनों ही मामलों में कोरोना ने किडनी पर प्रभाव डाला है।

गौरतलब है कि हिसार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है। सोमवार को भी जिले में कोरोना संक्रमण के 198 नए मामले आए थे। जिले में एक्टिव केस बढक़र अब 1120 हो गए हैं, रिकवरी रेट घटकर 95.94 प्रतिशत हो गया है। जिले में 8 लाख 53 हजार 710 लोगों की जांच की जा चुकी है, जिसमें संक्रमण के कुल 55 हजार 665 मामले सामने आ चुके हैं। अब तक कुल 53 हजार 403 लोग कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। हिसार में ओमिक्रोन के भी दो मामले मिल चुके है।

वैक्सीनेशन पर पड़ रही मौसम की मार

स्वास्थ्य विभाग जिले में वैक्सीनेशन को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। विभाग अब 18 से उपर के आयु वर्ग में 13 लाख 19 हजार लोगाें को पहली डोज लगाने के टारगेट के करीब पहुंच गया है। लेकिन दूसरी डोज में अभी काफी पीछे है। विभाग ने अब प्रतिदिन मेगा वैक्सीनेशन का प्लान बनाया हुआ है। लेकिन न तो 15 से 17 वर्ग में और न ही प्रिकोशनरी डोज और न ही अन्य वर्गों में अधिक वैक्सीनेशन हो रहा है। विभागाधिकारी अब मौसम साफ होने का इंतजार कर रहे है, ताकि वैक्सीनेशन को बढ़ाया जा सकें।

Edited By: Manoj Kumar