हिसार, जेएनएन। कोरोना के बढ़ते केस को देखकर बाजार में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने व्यापारियों से सहयोग नहीं मिलने के बाद शहर के 12 बाजारों में लेफ्ट-राइट प्लान लागू कर दिया। मगर पहले ही दिन शुक्रवार को इसे लेकर विवाद खड़ा हो गया। कुछ व्‍यापारी सिस्‍टम के पक्ष में नजर आए तो कुछ ने इस नए प्‍लान का विरोध किया। बाजार में माहौल तनावपूण बना हुआ है। मौके पर पुलिस भी पहुंची है तो जबरन व्‍यापारी दुकानें खुलवाने में जुटे हुए हैं। हालांकि बात नहीं मानने पर दुकानें सील करने की चेतावनी भी दी गई थी। मगर व्‍यापारियों का कहना है कि 15 दिन दुकान खुलने से उन्‍हें बहुत नुकसान होगा इसलिए वे रोजाना दुकान खोलेंगे। ऐसे में प्रशासन के लिए अब यह प्‍लान गले की फांस बनने वाला है।

गुरुवार को इसको लेकर एडवाइजरी भी जारी की गई थी। शुक्रवार को प्लान सख्ती से लागू हो, इसके लिए निगम इंजीनियर देर रात तक बाजारों में लेफ्ट राइट साइड की मार्किंग करते रहे। साथ ही शुक्रवार को लेफ्ट साइट खोलने का फैसला लिया गया। हालांकि जिला प्रशासन ने मेडिकल हॉल, दूध व करियाना जैसी जरूरी वस्तुओं की दुकानों को प्लान में राहत प्रदान की। ये दुकानें पहले की तरह ही खुली रहेंगी। उधर प्रशासन के फैसले के बाद कई बाजारों के व्यापारियों ने बैठकें की और लेफ्ट राइट प्लान लागू करने पर नाराजगी प्रकट की। साथ ही प्रशासन को चेताया कि यदि व्यापारियों पर यह फैसला थोपा गया तो वे इस मामले में व्यापारियों से विचार विमर्श कर आगामी कदम उठाएंगे।

इन 12 बाजारों में लेफ्ट-राइट प्लान लागू

- राजगुरु मार्केट

- एमसी कालोनी मार्केट

- मोती बाजार मार्केट

- मोरीगेट मार्केट

- तलाकी गेट से गुलाब ङ्क्षसह चौक मार्केट

- अमीर चंद मार्केट

- जैन गली मार्केट

- नागोरी गेट मार्केट

- बिश्नोई मंदिर मार्केट

- तेलीयान पुल मार्केट

- गोङ्क्षवदगढ़ बाजार

- डोगरान मुहल्ला मार्केट

सिस्टम से खुलेंगी दुकानें

डीसी डा. प्रियंका सोनी ने कहा कि हिसार शहर और उपमंडलों के सभी बाजार राइट और लेफ्ट के तहत खोले जाएंगे। हिसार शहर में नगर निगम दिन निर्धारित कर लेफ्ट व राइट श्रेणी में बाजारों को बाटेंगे। निगम कमिश्नर विभिन्न बाजारों की कमेटी/एसोसिएशन के माध्यम से नई व्यवस्था को सुनिश्चित करेंगे। इसी प्रकार से उपमंडलाधीश अपने-अपने क्षेत्रों में व्यवस्था को लागू करेंगे। डीसी ने कहा कि गली-मुहल्लों जहां बाजार नहीं हैं, कि दुकानें पहले की तरह खुली रहेंगी। इसी प्रकार से मेडिकल हॉल, दूध व करियाना जैसी जरूरी वस्तुओं की दुकानें भी पहले की तरह ही खुली रहेंगी।

लेफ्ट-राइट प्लान पर व्यापारियों ने जताई नाराजगी

राजगुरु मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन : प्रधान गौतम नारंग ने कहा कि प्रशासन के फैसले पर व्यापारियों ने मीङ्क्षटग कर रोष प्रकट किया है। व्यापारी पहले ही आर्थिक नुकसान में है अब इस फैसले से कारोबार लगभग ठप हो जाएगा। ऐसे में दुकान के काङ्क्षरदे को वेतन देने से लेकर दुकान के किराये तक कैसे भरेंगे। इस बारे में सभी मार्केट के व्यापारियों से बैठक कर उनकी राय ली जाएगी और इसके बार संयुक्त रूप से आगामी कदम उठाएंगे।

न्यू राजगुरु मार्केट व बिश्नोई मार्केट एसोसिएशन :  प्रधान राजेंद्र चुटानी की अध्यक्षता में न्यू राजगुरु व बिश्नोई मंदिर मार्किट व आर्य समाज मंदिर मार्किट के दुकानदारों ने बैठक हुई। प्रधान राजेंद्र चुटानी ने कहा कि बसों, रेल और बैंकों में भीड़ है। लेकिन दुकानदारों को परेशान किया जा रहा है। उच्च वर्ग को छूट दी जा रही है, जबकि मध्यम वर्ग पर प्लान बना रहे हंै जो उनकी कमर तोड़ देगा। यदि बाजार के कही दिक्कत है तो व्यपारियों से बैठकर मीङ्क्षटग करें। यदि फैसला थोपेंगे तो व्यापारी नहीं सहेगा।

राजगुरु मार्केट आर्गेनाइजेशन :

प्रधान अजय सैनी ने प्रशासन से मांग की कि मार्केट में व्यवस्था सही चल रही है। प्लान लागू न करें। व्यापार पहले ही बहुत कम हैं इसलिए प्रशासन जो चल रहा है, उसे चलने दिया जाए। पार्षद अमित ग्रोवर ने कहा कि इस बारे में कमिश्नर व उपायुक्त से मिलेंगे।

ग्रीन स्क्वेयर मार्केट एसोसिएशन : प्रधान प्रवीण गुप्ता ने कहा कि बाजार खोलने पर प्रशासन मार्केट एसोसिएशन से सलाह कर फैसला ले तो बेहतर होगा। व्यापारियों ने प्लान लागू करने के बजाय कुछ प्लाङ्क्षनग की है। मांग है कि प्रशासन हमारे सुझाव पर भी अमल करे। कोरोना में लॉकडाउन के कारण पहले ही व्यापारी परेशान हैं। ऐसे में उन पर लेफ्ट-राइट प्लान न थोपा जाए।

समस्या को लेकर डिप्टी सीएम से करूंगा बात

सभी दुकानदार शारीरिक दूरी, मास्क एवं सैनिटाइज का इस्तेमाल करने के लिए हामी भर चुके हैं और उसका पालन भी कर रहे हैं। लगातार दो महीने से लॉकडाउन का पालन करने में मार्केट के सभी दुकानदारों ने अपनी अहम भूमिका निभाई है और प्रशासन का हर तरह से सहयोग करने के लिए दुकानदार भाई बढ़-चढ़कर आगे आए हैं, जिनमें से कुछ किरायेदार भी हैं जिनको आज किराया देने के लिए बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मैं इस समस्या को लेकर मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से बात करूंगा।

जितेंद्र श्योराण, जजपा नेता, हिसार

-----प्रशासन ने जो फैसला लिया है, वह सरासर गलत है। जो दुकानों पर काम कर रहे हैं, उनको वेतन के लाले पड़ जाएंगे। दुकानदार महीने में 15 दिन का किराया कैसे देंगे। पहले लॉकडाउन में दुकानें बंद रहीं। अब उनका काम काज चलना चाहिए। राजगुरु मार्केट में जाकर सभी से मिला हूं। वहां कोई नियम नहीं टूटते। प्रशासन को चाहिए कि वह मार्केट में गाडिय़ों की आवाजाही रोके। लेफ्ट-राइट सिस्टम गलत है। शहर के विधायक को आवाज उठानी चाहिए। उनको जनता के बीच में आना चाहिए।

- रामनिवास राड़ा, कांग्रेस नेता, हिसार

-----निगम के सभी एक्सईएन को लेफ्ट राइट प्लान लागू करने के लिए बाजारों की मार्किंग करवाई है। पहले दिन लेफ्ट साइड की दुकानें खोली जाएंगी। जो आदेश की पालना नहीं करेगा तो उनकी दुकान सील करने तक की कार्रवाई की जा सकती है।

- अशोक गर्ग, कमिश्नर, नगर निगम हिसार।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस