हिसार, जेएनएन। हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल शुक्रवार रात अजीब स्थिति में फंस गए। वह खराब मौसम की वजह से चुनाव प्रचार की समय सीमा खत्म होने के बाद भी चंडीगढ़ नहीं पहुंच पाए। उनका हेलीकाप्‍टर बारिश और आंधी के कारण उनका हेलीकाप्‍टर उडा़न नहीं भर सका। इसके बाद  मनोहर लाल को नरवाना में रुकने के लिए देर रात हाईकोर्ट की शरण ले लेनी पड़ी। कोर्ट न विशेष परिस्थितियों में कोर्ट ने इसकी अनुमति दे दी।

सिरसा में खराब मौसम की वजह नहीं उड़ा सीएम का हेलीकाप्टर

देर शाम आंधी आने के कारण मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर के उड़ान नहीं भर सका था। मुख्यमंत्री की तरफ से पहले राज्य के मख्य चुनाव अधिकारी और केंद्रीय चुनाव आयोग से अनुमति मांगी गई थी, लेकिन वहां से कोई जवाब नहीं मिलने पर हाई कोर्ट में अपील हुई।

रात साढ़े बजे हाईकोर्ट ने दी अनुमति, नरवाना में रुके सीएम

रात लगभग 10:30 बजे याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस राजीव शर्मा व जस्टिस हरेंद्र सिंह सिद्धू की खंडपीठ ने मुख्यमंत्री को नरवाना में रात्रि ठहराव की इजाजत दे दी। आदेशों में कोर्ट ने कहा कि चंडीगढ़ में दोपहर बाद से ही मौसम खराब होने लगा था। ऐसे में सड़क मार्ग से 340 किलोमीटर का सफर करना मुख्यमंत्री के लिए काफी कठिन हो जाता।

खंडपीठ ने कहा कि चुनाव आयोग ने निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव कराने के लिए नियम बनाए हैं पर कानून के तहत असंभव की अपेक्षा नहीं की जा सकती। मालूम हो कि चुनाव आयोग द्वारा सभी सरकारी सुरक्षा प्राप्त मंत्रियों, सांसदों और विधायकों को चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद अपने क्षेत्रों में पहुंचने का आदेश है।

मालूम हो कि सिरसा में पार्टी प्रत्याशी सुनिता दुग्गल के प्रचार के लिए मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार शाम सिरसा पहुंच गए थे। शुक्रवार दोपहर रोड़ी में जनसभा के बाद डबवाली पहुंचे। वहां जनसभा के बाद मौसम खराब होने के कारण स्टेडियम में खड़ा हेलिकाप्टर उड़ान नहीं भर सका। कुछ देर इंतजार के बाद लगभग पांच बजे सीएम सड़क मार्ग से चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गए। उन्हें सिरसा व फतेहाबाद के रास्ते चंडीगढ़ जाना था।

डबवाली से रवाना सीएम का काफिला जगह-जगह रुकते हुए आगे बढ़ा। वह कुछ दूरी पर स्थित एक होटल में चले गए। कुछ देर वहां रुकने के बाद एक अन्य दुकान पर आ गए। यहां लोगों से खुले में ही बातचीत शुरू कर दी। उनका काफिला डबवाली के बठिंडा चौक पर पहुंचा। यहां लोगों को खड़ा देखकर मुख्यमंत्री ने बातचीत शुरू कर दी। 100 मीटर आगे फिर काफिला रुक गया।

डबवाली में ही सीएम लोगों को देखकर चार बार रुके और सुख-दुख, फसल, गांव की चर्चा कर ओर बढ़ गए। चोरमार में दो जगह काफिला रुकवाया। ओढां में जूस की रेहड़ी के समीप काफिला फिर रुक गया। वह सीधे रेहड़ी पर आए। दस मिनट से अधिक समय तक यहां बातचीत करते रहे। जूस पीने के बाद रवाना हो गए। इसके बाद वह नरवाना पहुंचे तो खराब मौसम के कारण आगे बढ़ना मुश्किल हाे गया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप