हिसार, जेएनएन। परिवार की हालत ठीक नहीं थी। परिवार को चलाने के लिए खेतीबाड़ी करते थे। 12वीं पूरी हुई तो घर की माली हालत सुधारने के लिए पोस्ट ऑफिस में लिपिक के पद पर नौकरी करने लगे। नौकरी के दौरान ग्रेजुएशन पूरी की। बाद में गुरु ज्वाला प्रसाद ने सिविल सर्विस के लिए प्रेरित किया। नौकरी करने के साथ पढ़ाई शुरू की तो पहली बार में ही इंटरव्यू तक पहुंच गए। बाद में आइपीएस बने और हरियाणा में पोस्टिंग हुई। हम बात कर रहे हैं हिसार के नए पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया की। उनका ट्रांसफर सरकार ने भिवानी से हिसार किया है। यंग आइपीएस गंगाराम के हिसार आने के बाद पुराने केसों को सुलझाना भी काफी चुनौती पूर्ण होगा।

राजस्थान के परवतसर तहसील के लिखियास गांव के आइपीएस गंगाराम पूनिया परिवार को पालने के लिए खेतीबाड़ी करते थे। पूनिया ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई गांव से की थी। उसके बाद वह 12वीं करने के लिए 10 किलोमीटर पैदल चलकर करकेड़ी गांव में राजकीय विद्यालय में पढऩे जाते थे। उसके बाद वह लिपिक की नौकरी करने लगे थे। दूसरी बार में सिविल सर्विस पास करने वाले गंगाराम भिवानी से पहले फतेहाबाद भी रह चुके हैं। गंगाराम का पढ़ाई तक का जीवन बेहद संघर्षमय रहा है। वहीं वे उन लोगों के लिए मिसाल भी हैं तो सुविधाओं के अभाव का हवाला दे मंजिल पाने से भटक जाते हैं।

2014 बैच के युवा आइपीएस संभालेंगे हांसी जिला पुलिस की कमान

हांसी:  हांसी के एसपी वीरेंद्र सांगवान का भी शनिवार को तबादला हो गया। अब हांसी जिला पुलिस की कमान 2014 बैच के युवा आइपीएस अधिकारी लोकेंद्र सिंह को सौंपी गई है। एचपीएस वीरेंद्र सांगवान को एसपी एससीबी के पद पर स्थानांतरित किया गया है। आइपीएस लोकेंद्र सिंह फिलहाल फरीदाबाद सेंट्रल में डीसीपी के पद पर तैनात थे। वीरेंद्र सांगवान बीते साल 1 जुलाई 2019 को हांसी एसपी के पद पर तैनात हुए थे व करीब 11 महीनों तक हांसी में सेवाएं दी।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस