संवाद सहयोगी, हांसी : शहर के परशुराम चौक पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में स्थित एटीएम शातिर ठगों का सॉफ्ट टारगेट बन गया है। एटीएम कार्ड बदलकर पैसे निकालने की वारदातें लगातार इस एटीएम बूथ पर हो रही है। नए मामले में ढाणा खुर्द के एक रिटायर्ड फौजी का एटीएम कार्ड बदलकर खाते से 70 हजार रुपये निकाल लिए गए।

पुलिस को दी शिकायत में ढाणा खुर्द निवासी रामपत ने बताया कि एसबीआइ की शाखा में उसका ज्वाइंट खाता है। बीते शनिवार को वह बैंक शाखा के आगे लगे एटीएम बूथ से पैसे निकाल रहे थे। इसी दौरान पास खड़े एक युवक ने एटीएम कार्ड दिखाने के लिए कहा। युवक ने एटीएम कार्ड देखकर वापस दे दिया। इसके बाद वह घर जा रहा था रास्ते में ही उसके मोबाइल पर 15-15 हजार रुपये खाते से निकाले जाने का मैसेज आया। इसके कुछ देर बाद ही एक हजार व 39 हजार रुपये और निकालने का मैसेज आया। घर पहुंचने के बाद रामपत ने अपने कार्ड को ब्लाक करवा दिया। इसके बाद पुलिस के पास शिकायत लेकर पहुंचे।

पुलिस ने रामपत की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। सोमवार को बैंक से सीसीटीवी फुटेज निकाल देखी जाएगी। रामपत ने बताया कि उसके खाते में कई लाख जमा थे और अगर वह कार्ड को ब्लॉक नहीं कराते तो पूरे राशि ठग और पैसे निकाल लेते। वारदातों से सबक नहीं ले रहा बैंक प्रशासन

शहर के एसबीआइ बैंक व एटीएम बूथ पर सबसे अधिक भीड़ रहती है। इस एटीएम बूथ पर कार्ड बदलकर पैसे निकालने की लगातार घटनाएं हो रही हैं। इस साल अब तक करीब 5 घटनाएं यहां हो चुकी हैं। लेकिन एसबीआइ बैंक प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है। एटीएम बूथ पर कोई सुरक्षा गार्ड तैनात नहीं है। यहां किसी गार्ड के तैनात न होने का सबसे अधिक फायदा शातिर ठग उठा रहे हैं और इसका खामियाजा बैंक उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। बैंक अपने उपभोक्ताओं को सुरक्षा देने में लगातार फेल साबित हो रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप