हिसार, जेएनएन। टोल नाकों पर बढ़ रही वाहनों की भीड़ को कम करने के लिए सरकार ने फास्टैग की जो नई योजना लागू की थी उसका मुख्य रुप से पर्दार्पण 15 जनवरी को हो चुका है। एक नवंबर 2019 से जारी की गई इस योजना में सरकार ने लोगों को 15 जनवरी तक का समय दिया था जिसमें टोल पर वाहनों की बढ़ती भीड़ को रोकने के लिए कैशलेस सुविधा को निर्धारित किया है। योजना के तहत शहर के 70 फीसद लोगों द्वारा अपने वाहनों पर फास्टैग लगवाया जा चुका है।

बाकी के 30 फीसदी लोग वो हैं जिन्हें फास्टैग के बारे में जानकारी नहीं और जो अपने वाहनों को शहर की सीमा के ही अंतर्गत चलाते हैं। शहर के दिल्ली रोड पर रामायण गांव स्थित टोल नाके पर कल से सभी लेनों को फास्टैग कर दिया गया है। किसी भी वाहन को बिना फास्टैग के लेन पार करने के लिए डबल चार्ज देना होगा। टोल मैनेजर ने बताया कि फास्टैग योजना के मुताबिक सभी लेनों को जल्द ही कैशलेस किया जाएगा। वहीं पहले जहां 24 घंटे के अंदर आने जाने वाले वाहनों को छूट मिलती थी, अब बिना फास्‍टैग वालों को यह सुविधा नहीं मिलेगी। आने और जाने के वक्‍त एक जैसा शुल्‍क ही देना होगा, चाहे वह 24 घंटे के अंतराल में ही क्‍यों न हो। यह छूट केवल फास्‍टैग वालों को ही मिलेगी।

कैश पासिंग के लिए खुली हैं एक और 12 नंबर लेन

रामायण गांव स्थित टोल नाका दिल्ली रोड पर स्थित होने के कारण काफी संख्या में सुबह से शाम और देर रात तक वाहन चलते हैं। फास्टैग योजना के चलते टोल की सभी लेनों को कैशलेस कर दिया गया है। परंतु अभी भी कई वाहन मालिकों ने फास्टैग नहीं लगाया है। ऐसे में अगर बिना फास्टैग के कोई भी वाहन दिल्ली जाने के लिए टोल पार करता है तो उनके आने-जाने के लिए रामायण टोल स्थित एक और 12 नंबर लेन को अभी भी कैश लेन रखा हुआ है। शहर से दिल्ली की तरफ जाने के लिए 12 नंबर लेन व आने वाले वाहनों के लिए एक नंबर लेन को अभी कैशलेस नहीं किया गया है। इसके अलावा अगर कोई भी वाहन बिना फास्टैग लगाए कैशलेस लेन में एंट्री करते हैं तो  उन्हें सामान्य से दोगुना चार्ज देना होगा।

टोल कर्मियों से बहस करते दिखे बिना फास्टैग वाले वाहनों के मालिक

फास्टैग योजना के लागू होने के पहले ही दिन कुछ वाहन चालकों ने बिना फास्टैग के फास्टैग लेन में एंट्री की। वाहनों पर फास्टैग न होने पर टोलकर्मियों ने वाहन चालकों से दोगुना टोल वसूला। दोगुना टोल चार्ज करने पर कई वाहन चालक टोलकर्मियों से बहस करते हुए नजर आए। बहस के कारण दूसरे वाहन चालकों को भी लंबा इंतजार करना पड़ा। कुछ छोटे वाहन तो कुछ बड़े वाहनों को फास्टैग न होने के चलते दोगुना टोल वसूला गया।

एक नवंबर से कर रहे जागरूक

रामायण गांव स्थित टोल के मैनेजर अजय सिंह ने बताया कि भारत सरकार ने एक नवंबर से यह योजना पारित की। तभी से एनएचएआई के निर्देशानुसार हमारे द्वारा अगले दिन से ही इस योजना के बारे में लोगों को जागरुक करना शुरू कर दिया था। उन्होंने बताया कि पूरे टोल पर फास्टैग के पोस्टर लगवाए गए, टोल पार करने वाले सभी चालकों को फास्टैग के बारे में जानकारी दी गई। वाहन चालकों को पंफ्लेट बांटे गए और 15 जनवरी से पहले-पहले फास्टैग लगवाने के बारे में सूचित किया गया। इसके अलावा टोल कार्यालय में भी फास्टैग बनवाने के लिए कांउटर बनाया गया है।

घर बैठे कर सकते हैं फास्टैग के लिए आवेदन

योजना के तहत जो लोग फास्टैग बनवाने आ रहें हैं, उन लोगों को गाड़ी की आरसी के साथ में दो पहचान पत्र की कॉपी वाहन मालिक की फोटो सहित लानी होगी। टोल कार्यालय में फास्टैग बनवाने के लिए 100 रुपये अतिरिक्त शुल्क देना होगा। साथ ही जिन वाहन चालकों को महीने का रिचार्ज करना है वो घर बैठे ही अपने मोबाइल के जरिए रिचार्ज कर सकते हैं। बस इसके लिए उन्हे निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा :-

1. एनएचएआई की वेबसाइट एनएएचआइ डॉट जीओवी डॉट इन पर जाएं

2. साइट का होमपेज खुलने के बाद फास्टैग मंथली पास वाले विकल्प पर क्लिक करें।

3. जहां से आपका फास्टैग बना है उस टोल का नाम व दिए गए कोड डालिए और सबमिट बटन दबाएं।

4. अपना वाहन नंबर या टैग आइडी डालिए और सर्च बटन दबाएं।

5. इसके बाद अपने वाहन नंबर पर क्लिक करें और अपना फास्टैग चुनें।

6. अपनी ई-मेल आईडी डालें और सभी नियमों को पढऩे के बाद कन्फर्म बटन दबाएं।

7. इसके बाद स्क्रीन पर आए पेमेंट का जरिया भरें और उससे जुड़ी सभी जानकारी उपलब्ध करवाएं।

8. पेमेंट होने के बाद अपनी पेमेंट रसीद को संभाल कर रखें।

लोकल वाहनों को फास्टैग पर मिल रही छूट

टोल मैनेजर अजय सिंह ने बताया कि लोकल वाहन चालकों को फास्टैग लगवाने पर विशेष छूट दी जा रही है। सभी वाहन चालक जल्द से जल्द अपने वाहनों पर फास्टैग लगवा लें। फास्टैग योजना के चलते थ्री व्हीलर, आर्मी वाहन, ट्रैक्टर व ऑन ड्यूटी पुलिस जैसे वाहनों को छूट मिली है।

यह भी जानिए :-

1. फास्टैग लगवाने के लिए वाहन के मालिक का किसी भी बैंक में खाता होना जरुरी नहीं है। फास्टैग खुद ही एक प्रकार का अकांउट है जिसमें आपके पैसे सुरक्षित रहते हैं। केवल टोल पार करने पर ही आपके फास्टैग अकांउट से रुपये कटेंगे।

2. वाहन चालकों को अपने फास्टैग अकाउंट में कम से कम 200 रुपये होने आवश्यक हैं। इससे यात्रा के दौरान टोल नाके पर राशि कम होने के चलते दोगुना टोल नहीं देना पड़ेगा।

3. किसी भी वाहन के टोल पार करने पर ही फास्टैग अकांउट से रुपये काटे जाएंगे।

4. फास्टैग एक जीपीएस भी है जिसके जरिए आप अपने वाहन की लोकेशन का भी पता लगा सकते हैं।

5. फास्टैग के लिए महीने का रिचार्ज 265 रुपये का है।

....सभी वाहन चालकों से अपील है कि जल्द से जल्द अपने वाहनों पर फास्टैग लगवा लें। एनएचआइ व अन्य कंपनियां हैं जिनकी वेबसाइट के जरिए आप मोबाइल पर घर बैठे ही अप्लाई कर सकते हैं।

-अजय सिंह, मैनेजर, रामायण गांव टोल।

फास्टैग बैंक

इन बैंकों से भी फास्टैग कर सकते हैं अप्लाई

बैंक                                 हैल्पलाइन नंबर

1. आईएचएमसीएल (एनएचएआई)                 1033

2. ऐक्सिस बैंक                           1800-419-8585

3. आईसीआईसीआई बैंक                    1800-2100-104

4. आईडीएफसी बैंक                       1800-266-9970

5. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया                    1800-11-0018

6. एचडीएफसी बैंक                        1800-120-1243

7. करुर वैश्य बैंक                    1800-102-1916

8. ईक्वीटॉस स्मॉल फाईनेंस बैंक               1800-419-1996

9. पेटीएम पेमेंट बैंक                       1800-102-6480 

10. कोटेक महिन्द्रा बैंक                     1800-419-6606 

11. फेडरल बैंक                          1800-266-9520  

12. साउथ इंडियन बैंक                     1800-425-1809  

13. पंजाब नेशनल बैंक                     080-67295310   

14. सिटी यूनियन बैंक                      1800-2587200   

15. बैंक ऑफ बरौड़ा                      1800-1034568   

16. इंडस्लैंड बैंक                         1860-5005004     

17. एयरटेल मनी बैंक                      8800-688-006

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस