संवाद सहयोगी, नया गुरुग्राम: प्रशासन पानी की बर्बादी को लेकर कतई गंभीर नहीं है। एक तरफ जल शक्ति जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं, दूसरी तरफ सरकारी अफसरों की लापरवाही से पानी की जमकर बर्बादी हो रही है। बुधवार शाम एमजी रोड पर ली-मेरीडियन होटल द्वारा सीवर जोड़ने के लिए बिना स्वीकृति खोदाई कर डाली, जिसमें पानी की लाइन टूट गई और हजारों लीटर पानी बर्बाद हो गया।

आरटीआइ कार्यकर्ता रविन्द्र यादव ने बताया कि एमजी रोड स्थित पांच सितारा ली-मेरीडियन होटल प्रबंधन द्वारा अपने होटल का सीवर जोड़ने के लिए एमजी रोड पर संबंधित विभाग से बिना किसी स्वीकृति के सड़क खोद दी। इस दौरान पेयजल लाइन टूट गई। इसी प्रकार से सेक्टर-52 गुरुग्राम विश्वविद्यालय के सामने भी पानी की मुख्य लाइन टूटने से लाखों लीटर पानी सड़क पर बह चुका है।

यह दो मामले बता रहें कि जल संरक्षण को लेकर अधिकारी कितने गंभीर है। ऐसी लापरवाही बरतने के बाद अधिकारियों की तरफ से कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जाती। आरटीआइ कार्यकर्ता ने इसकी शिकायत जीएमडीए के अधिकारियों को कर दी गई है, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। होटल की सीवर मास्टर लाइन से जोड़ने के लिए जीएमडीए से किसी प्रकार की कोई स्वीकृति नहीं ली गई। इसके लिए उचित कार्रवाई की जाएगी।

ललित अरोड़ा, मुख्य अभियंता, जीएमडीए

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप