जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: शंकर चौक के नजदीक यू-टर्न फ्लाईओवर एवं सिरहौल बॉर्डर पर यू-टर्न अंडरपास का निर्माण 31 मार्च 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) ने रखा है। इसे देखते हुए निर्माण कंपनी ने तैयारी तेज कर दी है। दोनों जगह निर्माण एक साथ पूरा किया जाएगा, ताकि एक साथ ही दोनों जगह से ट्रैफिक जाम की समस्या दूर हो जाए।

दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस-वे पर शंकर चौक एवं सिरहौल बॉर्डर के नजदीक प्रतिदिन पीक आवर के दौरान ट्रैफिक जाम की समस्या रहती है। कई बार लंबा जाम लग जाता है। इसका असर आसपास की सड़कों पर भी पड़ता है। इसे देखते हुए दोनों जगह निर्माण कार्य हर हाल में एक साल के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। दोनों जगह इस साल 31 मार्च से विधिवत निर्माण कार्य शुरू किया गया था। वैसे कांट्रैक्ट के मुताबिक निर्माण कार्य पूरा करने का समय 4 सितंबर 2020 है। ट्रैफिक जाम की समस्या को देखते हुए समय से कई महीने पहले निर्माण पूरा करने को कहा गया है। जगह की कमी की समस्या दूर

सिरहौल बॉर्डर पर यू-टर्न अंडरपास के रैंप हेतु जगह की कमी की समस्या सामने आ रही थी। इसके लिए एक कंपनी की कुछ जगह चाहिए थी। कंपनी ने जगह देने के बारे में अपनी सहमति दे दी है। इससे उम्मीद है कि अंडरपास का निर्माण दोनों तरफ तेजी से चालू हो जाएगा। पालम विहार निवासी इंजीनियर रमेश पंवार कहते हैं कि निर्माण कंपनी दिन की बजाय रात में अधिक काम करे। इससे और तेजी से काम होगा। दिन में ट्रैफिक का दबाव अधिक होने की वजह से कहीं न कहीं काम प्रभावित होता है। रात 10 बजे से लेकर सुबह छह से सात बजे तक ट्रैफिक का दबाव दिन की अपेक्षा काफी कम रहता है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के निर्देशानुसार काम तेजी से किया जा रहा है। फ्लाईओवर के कई पिलर तैयार हो चुके हैं। अंडरपास का भी निर्माण काफी तेजी से चल रहा है। पूरा प्रयास रहेगा कि 31 मार्च तक दोनों निर्माण पूरे हो जाएं। निश्चित रूप से दोनों निर्माण पूरा होने के बाद ट्रैफिक का दबाव कम हो जाएगा।

- आरएन सिंह मान, वाइस प्रेसिडेंट, रामकुमार कांट्रेक्टर (निर्माण कंपनी)

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप