मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : औद्योगिक क्षेत्र सेक्टर-37 में सीवर ओवरफ्लो की समस्या लगातार गहराती जा रही है। उद्यमियों का कहना है कि इस बारे में की गई शिकायतों के बाद भी नगर निगम के अधिकारी कुछ नहीं कर रहे हैं। इस कारण सीवर से ओवरफ्लो होकर सड़क पर बहने वाले पानी का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तो औद्योगिक क्षेत्र में आना-जाना भी दुश्वार हो होता जा रहा है। इससे औद्योगिक कामकाज पर भी इसका असर पड़ता दिख रहा है। यही हाल रहा तो यहां गंदगी के कारण बीमारी भी फैल सकती है।

सेक्टर-37 गुरुग्राम के प्रमुख औद्योगिक हब में से एक है। यहां सीवर लाइनें पिछले पिछले दो माह से जाम है। इसकी शिकायत स्थानीय उद्यमियों से लेकर औद्योगिक एसोसिएशन तक ने नगर निगम अधिकारियों से की है। इसके बाद भी सीवर लाइनों को साफ कराने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया। अब स्थिति काफी खराब हो गई है।

यहां के पेस सिटी एक क्षेत्र में तो स्थिति इतनी खराब हो गई है कि कोई पैदल भी सड़क पर नहीं चल सकता है। यहां के प्लाट नंबर 70 से 96 तक सीवर का काफी पानी सड़क पर भरा हुआ है। उद्यमी प्रभाकर का कहना है कि सीवर लाइनों को लेकर पिछले काफी समय से समस्या है। बार-बार की शिकायत के बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

सेक्टर-37 इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट एसोसिएशन के चेयरमैन दीपक मैनी का कहना है कि इस क्षेत्र की समस्या विकराल हो गई है। जिसे संबंधित विभाग द्वारा नजरअंदाज किया जा रहा है।

औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक इकाइ में काम करने वाले रमेश अधिकारी का कहना है कि यहां की हालत काफी खराब है। सीवर को पानी सड़कों पर बह रहा है। इसके यहां हमेशा बदबू रहती है। इससे लोगों यहां आना-जाना तो दूर फैक्टरी के अंदर भी बदबू के कारण काम करना मुश्किल होता जा रहा है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप