संवाद सहयोगी, पटौदी (गुरुग्राम): गांव खलीलपुर में बुधवार शाम दो बाइक से पहुंचे बदमाशों ने स्थानीय निवासी प्रवीण कुमार को निशाना बनाकर कई राउंड फायरिग की। एक गोली उनके पैर में लगी है। प्रवीण का तीन वर्षीय बेटा भव्य गोद में बैठा था। एक गोली उसके पेट में लगी। दोनों को रेवाड़ी के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां बच्चे की मौत हो गई। सूचना मिलते ही पटौदी थाना पुलिस से लेकर क्राइम ब्रांच की फरुखनगर टीम मौके पर पहुंची। इलाके में नाकेबंदी की गई लेकिन बदमाश पकड़ में नहीं आए। बताया जाता है कि बदमाश रेवाड़ी इलाके से आए थे। इसे देखते हुए क्राइम ब्रांच की टीम ने पटौदी से लेकर रेवाड़ी तक इलाके में बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस उपायुक्त (मानेसर) वरुण सिगला ने बताया कि पटौदी थाना पुलिस से लेकर इलाके के सहायक पुलिस आयुक्त भी जांच में जुट गए हैं। इधर, फायरिग से गांव में दहशत का माहौल है। जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे लग रहा है कि आपसी रंजिश का मामला है। वैसे पूरी सच्चाई प्रवीण के बयान से ही सामने आएगी। बच्चे को गोली गोद में होने की वजह से लगी या फिर पिता-पुत्र दोनों को बदमाशों ने निशाना बनाया था, इस बारे में भी क्राइम ब्रांच की टीम पड़ताल कर रही है। प्रवीण की किसी से दुश्मनी तो नहीं थी, इस बारे में पता किया जा रहा है। प्रवीण क्या करते हैं, इस बारे में पूरी जानकारी समाचार लिखे जाने तक सामने नहीं आई थी।

Edited By: Jagran