संवाद सहयोगी, पटौदी: पटौदी से ऊंचा माजरा जाने वाले कच्चे रास्ते पर सीवर का गंदा पानी भरा होने से इस मार्ग से आने जाने-वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है। स्थानीय निवासी छवीश कुमार शास्त्री, सुरेंद्र कुमार शर्मा, रोहताश सिंह चौहान, अली हसन और नारायण सैनी का कहना है कि यह समस्या काफी दिनों से है, मगर अधिकारी लोगों की सुन नहीं रहे हैं।

बता दें कि काफी समय से सीवर का पानी ओवरफ्लो होकर इस मार्ग पर भरा हुआ है। इससे इस मार्ग से आने जाने वालों को गंदे पानी से होकर जाना पड़ता है। अनेक किसानों का अपने खेतों को जाने के लिए भी मात्र यही एक मात्र मार्ग है। वहीं कुछ लोगों के घर भी इस कच्चे रास्ते पर पड़ते हैं। लोगों की मांग है कि जनस्वास्थ्य विभाग सीवर लाइन साफ करवाकर इस समस्या का हल करवाए। जन स्वास्थ्य विभाग के उपमंडल अभियंता असर खान ने कहा हमें इस समस्या के बारे में दैनिक जागरण से ही पता चला है । सीवर लाइन की साफ करवाकर समस्या के समाधान कराएंगे।

माडल स्कूलों में अभी भी नहीं मिले शिक्षक

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: सरकारी माडल संस्कृति स्कूलों को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के तहत चलाया जाना है। इन स्कूलों में संसाधनों के साथ शिक्षकों की जरूरत है। विभाग ने सरकारी स्कूलों में पहले से तैनात उन शिक्षकों के आवेदन मांगे गए हैं जो इन स्कूलों में पढ़ाने के इच्छुक हैं। स्कूलों में नियुक्ति के लिए कुछ शिक्षकों के साक्षात्कार भी हुए लेकिन बहुत से स्कूलों को शिक्षक नहीं मिल सके हैं। बाद में कुछ विवादों के बाद इस प्रक्रिया में बदलाव कर दिया गया और शिक्षकों की लिखित परीक्षा ली गई। अब भी स्थिति यह है कि शिक्षकों की स्कूलों को शिक्षक नहीं मिल सके हैं।

माडल संस्कृति स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती के लिए शिक्षा विभाग ने एक निजी एजेंसी के साथ करार भी किया है। जिले के चार स्कूलों को शिक्षक मिलने हैं लेकिन अभी तक सीटें रिक्त हैं। खंड शिक्षा अधिकारी शील कुमारी ने बताया कि जल्द ही प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। विभाग की ओर से इसे लेकर दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे।

Edited By: Jagran