गुरुग्राम [आदित्य राज]। ड्रग तस्करों का नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए पुलिस आयुक्त केके राव ने सहायक पुलिस आयुक्त (डीएलएफ) करण गोयल के नेतृत्व में शनिवार शाम एसआइटी का गठन कर दिया। इसमें एक इंस्पेक्टर, दो सब इंस्पेक्टरों के साथ ही साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन से भी दो अधिकारी शामिल किए गए हैं। गठन के साथ ही टीम ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। बताया जाता है कि टीम ने दिल्ली से रुद्रा मेडिकोज के संचालक तरुण को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही कई अन्य की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी चल रही है। तस्करी के आरोपितों से पूछताछ के आधार दिल्ली में छापेमारी चल रही है। गुरुग्राम इलाके में भी छापेमारी जारी है, लेकिन एक के अलावा अन्य पकड़ में नहीं आ रहे। ऐसा लगता है कि या तो सभी इलाके से फरार हो चुके हैं या फिर भूमिगत हो चुके हैं।

27 जुलाई को हुआ था भंंडाफोड़

जिला औषधि नियंत्रक विभाग की टीम ने 27 जुलाई की रात सीएम फ्लाइंग स्क्वायड व गुरुग्राम पुलिस की मदद से अंतरराष्ट्रीय ड्रग (दवा) तस्कर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। सेक्टर-56 इलाके से आव्स राद एवं अकरम जबकि सदर थाना इलाके से मोहनाद एवं ओथमाना ए अईद गिरफ्तार किए गए। सभी इराकी मूल के हैं।

गैर कानूनी तरीके से करते हैं दवा सप्लाई

आरोप है कि सभी गैर कानूनी तरीके से विदेशों में दवाइयां सप्लाई करते थे। दोनाें इलाकों में छापेमारी के दौरान नशे, कैंसर और कोरोना से जुड़ी भारी मात्रा में न केवल दवाइयां बरामद की गईं बल्कि लगभग 75 लाख रुपये एवं एक फॉर्च्यूनर भी बरामद की गई। इनसे पूछताछ के आधार पर मेदांता अस्पताल के नजदीक दवा की दुकान चलाने वाले कारोबारी प्रदीप को गिरफ्तार किया गया। बताया जाता है कि इसने पूछताछ में एक-दो कारोबारियों के नाम लिए हैं। कुछ कारोबारियों के नाम इराकी मूल के गिरफ्तार आरोपितों ने लिए हैं। सभी की पहचान कर ली गई है। उनके ठिकानों पर लगातार दबिश दी जा रही है। एसआइटी के प्रभारी व सहायक पुलिस आयुक्त (डीएलएफ) करण गोयल ने बताया कि बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है। ड्रग तस्करी के आरोपितों से जिन कारोबारियों के संबंध हैं, सभी को गिरफ्तार किया जाएगा। जहां से जिस समय सूचना मिलेगी, उसी समय छापेमारी की जाएगी।

धवस्त होगा पूरा नेटवर्क

ड्रग तस्करी का मामला काफी गंभीर है। इसे देखते हुए एसआइटी का गठन कर दिया है ताकि पूरा नेटवर्क ध्वस्त हो सके। जब तक नेटवर्क ध्वस्त नहीं होगा तब तक तस्करी पर पूरी तरह लगाम नहीं लगेगी। उम्मीद है जल्द ही सभी आरोपित गिरफ्त में होंगे।

केके राव, पुलिस आयुक्त, गुरुग्राम

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस