Move to Jagran APP

गुरुग्राम में खाली जमीन पर नमाज पढ़ने के मामले ने पकड़ा तूल, विहिप समेत कई संगठनों ने किया विरोध

गुरुग्राम सेक्टर 47 में खाली जगह पर नमाज पढ़ने के विरोध का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। शुक्रवार को सेक्टर-12 में खाली जगह पर नमाज पढ़ने के मामले ने तूल पकड़ लिया। स्थानीय लोगों के साथ विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल और अन्य धार्मिंग संगठनों ने इसका विरोध किया।

By Pradeep ChauhanEdited By: Published: Fri, 22 Oct 2021 03:04 PM (IST)Updated: Sat, 23 Oct 2021 06:57 AM (IST)
विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और अन्य धार्मिंग संगठनों ने इसका विरोध किया।

गुरुग्राम,जागरण संवाददाता। गुरुग्राम के सेक्टर 47 में खाली जगह पर नमाज पढ़ने के विरोध का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। शुक्रवार को सेक्टर-12 में खाली जगह पर नमाज पढ़ने के मामले ने तूल पकड़ लिया। स्थानीय लोगों के साथ विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और अन्य धार्मिंग संगठनों ने इसका विरोध किया। आरोप है कि नमाज के दौरान काफी संख्या में लोग एकत्रित हो जाते हैं और मुख्य सड़क के पास जाम की समस्या होने से आवाजाही बाधित होती है।

loksabha election banner

खाली मैदान में नमाज पढ़ने को लेकर काफी देर तक हंगामा हुआ। हिंदू संगठनों का कहना है कि यह जमीन सरकारी है और इस पर बिना प्रशासन की अनुमति के कोई भी धार्मिक कार्य करने का अधिकार नहीं है। खाली मैदान के आपपास काफी आबादी है और लोगों को काफी दिक्कत हो रही है। हालांकि कई संगठनों के विरोध को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई और लोगों को समझाने का प्रयास किया। इससे पहले वजीराबाद स्थित खाली जमीन पर नमाज अदा को लेकर विवाद हुआ था। यहां कई हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने जय श्रीराम और बांग्लादेशी वापस जाओ समेत अन्य धार्मिक नारे लगाते हुए विरोध किया था।

इसके बाद जिले में सात जगहों पर नमाज पढ़ने वाले लोगों को जमीन खाली करनी पड़ी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया और वहां से नमाजियों को भेज दिया। वहीं, सामाजिक समरसता को ध्यान में रखते हुए वजीराबाद में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने खुद ही नमाज अदा नहीं की। हालांकि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण पुलिस मुस्तैदी के साथ काम कर रही है और सभी संगठनों को समझाने का प्रयास कर रही है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.