गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। अब राशन के लिए उपभोक्ताओं को खाद्य आपूर्ति विभाग के डिपो के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे और न ही लंबी लाइनों में खड़ा होना पड़ेगा। प्रदेश सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पहला एटीएम ग्रेन गुरुग्राम के फरुखनगर में स्थापित किया है, जोकि बैंक एटीएम की तर्ज पर काम करेगा। उपभोक्ता अपना अंगूठा (पंच कर) लगाकर यहां से अनाज प्राप्त कर सकेंगे।

हरियाणा प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (खाद्य एवं आपूर्ति विभाग भी देख रहे है) की योजना है कि ग्रेन एटीएम सभी जगहों पर लगें, जिससे सरकारी दुकानों से राशन लेने वालों के समय और पूरा माप न मिलने को लेकर तमाम शिकायतें दूर हो जाएंगी। इस मशीन को लगाने का मकसद राइट क्वांटिटी टू राइट बेनिफिशरी है। मशीनें न केवल सरकारी डिपो संचालकों को अनाज वितरण में सहायक साबित होंगी बल्कि इससे डिपो संचालकों का समय भी बचेगा। ऐसे करेगी मशीन काम यह एक स्वचलित मशीन है जोकि बैंक एटीएम की तर्ज पर कार्य करती है।

यूनाइटेड नेशन के व‌र्ल्ड फूड प्रोग्राम के तहत स्थापित मशीन को आटोमेटिड, मल्टी कमोडिटी, ग्रेन डिस्पेंसिंग मशीन कहा गया है। इस कार्यक्रम से जुड़े अधिकारी अंकित सूद का कहना है कि अनाज के मापतोल को लेकर इसमें त्रुटि न के बराबर है और एक बार में यह मशीन 70 किलोग्राम तक अनाज पांच से सात मिनट में निकाल सकती है।

बायोमीट्रिक से होगा वेरीफिकेशन

मशीन में लगी टच स्क्रीन के साथ एक बायोमीट्रिक मशीन लगी हुई है, जहां पर लाभार्थी को आधार या राशन कार्ड का नंबर डालना होगा। बायोमीट्रिक से सुनिश्चित करने पर लाभार्थियों को सरकार द्वारा निर्धारित अनाज स्वत: मशीन के नीचे लगाए गए बैग में भरा जाएगा। इस मशीन के माध्यम से तीन तरह के अनाज गेहूं, चावल और बाजरा का वितरण किया जा सकता है। फिलहाल फरुखनगर में स्थापित ग्रेन एटीएम मशीन से गेहूं का वितरण शुरू कर दिया गया है।

Edited By: Satyendra Singh